दुनिया का सबसे लोकप्रिय खेल फुटबॉल में बनाएं अपना करियर

दुनिया का सबसे लोकप्रिय खेल, सुपरस्टार खिलाड़ी और सबसे ज्यादा कमाई ये सब बातें अगर किसी खेल पर लागू होती हैं तो वो है फुटबॉल। आपको जानकर हैरानी होगी कि विश्वभर में सबसे पसंद किया जाने वाला खेल फुटबॉल है, इसे दुनिया का सबसे प्राचीन खेलों में से एक माना जाता है।

पैर से गेंद को विपक्षी खेमे में ले जाना और उसे गोल तक पहुंचाना ही फुटबॉल है। आप दुनिया में कहीं भी हों, आपको फुटबॉल के बारे में जानकारी जरूर होगी है और आपने इसे जाने-अनजाने में कभी न कभी खेला होगा।

बेकहम, रोनाल्डो, लियोनेल मेसी को फुटबॉल का जादूगर कहा जाता है क्योंकि इन सितारों के करिश्माई खेल के कारण आज भी दुनिया में फुटबॉल का जादू बना हुआ है।

विश्व का सबसे लोकप्रिय खेल फुटबॉल का इतिहास

  • यह खेल सदियों पुराना है। पुरातत्वविदों को इस खेल के रोमन और ग्रीक साम्राज्यों में खेले जाने के प्रमाण मिले हैं।
  • इतिहासकारों के अनुसार इस खेल को पहली बार कब खेला गया, इसकी जानकारी मिलना मुश्किल है।
  • उनका कहना है कि यह खेल 388-311 ईसा पूर्व ग्रीक साम्राज्य के दौरान खेला गया था।
  • इतिहासकारों के अनुसार तीसरी से पहली शताब्दी बीसी में चीनी सैनिक चमड़े से बनी गेंद से यह खेल खेला करते थे, उस समय इसे सुजू नाम से जाना जाता था।

आधुनिक फुटबॉल का जनक कौन है?

आधुनिक फुटबॉल का जनक इंग्लैंड को कहा जाता है। नौवीं शताब्दी तक यह खेल यूरोप के कई देशों में खेला जाता था, उस समय इंग्लैंड में लोगों के झुंड फुटबॉल खेलते थे, जहां इसे मॉब फुटबॉल कहा जाता था। यह खेल दो कस्बों, नगरों या मोहल्लों के बीच खेला जाता था, जिसमें दोनों ओर से काफी संख्या में लोग मैदान पर आते थे।

सबसे पुराना संगठन है फीफा 

फुटबॉल का विश्व निकाय फीफा (फेडरेशन इंटरनेशनेल डी फुटबॉल एसोसिएशन) के नाम से जाना जाता है। यह दुनिया का सबसे पुराना और सबसे बड़ा NGO है। इसकी स्थापना 21 मई 1904 को हुई थी। आज इसके सदस्य के रूप में 208 से अधिक देश हैं।

पहले विश्व युद्ध के बाद फीफा ने फुटबॉल को संगठित रूप दिया। इसमें फ्रांस के जूल्स रिमेट का महत्वपूर्ण योगदान था, जो 1921 में इसके अध्यक्ष बने। उन्होंने पहली बार ओलंपिक फुटबॉल को आयोजित करने का जिम्मा लिया और 1924 में इसे सफलतापूर्वक अंजाम भी दिया।

दुनिया का सबसे लोकप्रिय खेल फुटबॉल कहां से सीखें?

फुटबॉल खेलने में सरल और आसान होने के कारण इसे सीखना कोई कठिन काम नहीं है। भारत के हर गली में आज भी बच्चे और युवा फुटबॉल खेलते आपको नजर आ जाएंगे।

आज लगभग हर शहर और गाँव में प्रशासन द्वारा स्कूल, कॉलेज स्तर पर ऐसी व्यवस्था की गई है कि फुटबॉल के साथ-साथ अन्य खेलों को भी खेलने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है ताकि भविष्य के युवा फुटबॉल के साथ-साथ अन्य खेलों में भी उत्कृष्ट प्रदर्शन कर सकें और अपना करियर बना सकें।

आप अपने बजट खर्च पर भी प्राइवेट ट्रेनिंग ले सकते हैं और फुटबॉल कोच की मदद लेकर के भी फुटबॉल की बारिकियाँ सीख सकते हैं और अच्छा प्रदर्शन करते हुए अपना शानदार करियर बना सकते हैं।

फुटबॉल के मैदान, ट्रेनिंग, कोच आपको भारत के कई शहरों जैसे जयपुर, दिल्ली, मुंबई, रांची, इंदौर, भोपाल, अहमदाबाद, बैंगलोर, वडोदरा में मिल जाएंगे। इन शहरों में सरकारी प्रशिक्षण केंद्र भी हैं जहां आप इस खेल से संबंधित टिप्स प्राप्त कर सकते हैं।

फुटबॉल में करियर कैसे बनाएं?

फुटबॉल विश्वभर में सबसे लोकप्रिय और पसंदीदा खेल होने के कारण इसमें कंपिटिशन भी बहुत ज्यादा है। आपके लिए शुरुआत में स्कूल की टीम में भी जगह बनाना मुश्किल हो सकता है।

अगर आपने स्कूल की टीम में जगह बना ली और आपमें प्रतिभा है तो आपको जिला स्तरीय प्रतियोगिताओं में भाग लेना पड़ेगा और उसमें भी अगर आप सफल हो जाते हैं तो आपको राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं की बाधा को पार करना होगा, उसके बाद ही आप राष्ट्रीय स्तरीय टीम में जगह बनाने में कामयाब हो सकते हैं।

फुटबॉल में सफल करियर बनाने के लिए आपको कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना होगाः

समय का पालन

किसी भी खेल में सफल होने के लिए समय का पालन करना आपके लिए बहुत जरूरी है। आपको समय पर उठने और रोजाना अभ्यास करने की आदत डालनी होगी, तभी आप धीरे-धीरे ग्रोथ हासिल कर पाएंगे।

स्टैमिना

फुटबॉल में सफलता के लिए सबसे महत्वपूर्ण स्टैमिना है, इस खेल में खिलाड़ी को गेंद के साथ 90 मिनट (45-45 मिनट के दो हाफ) तक दौड़ना होता है, इसलिए उसका स्टैमिना बेहतरीन होना चाहिए। इसे आप रोज अभ्यास करके बढ़ा सकते हैं।

प्रतिभा

भीड़ से अलग दिखने और कुछ अच्छा करने के लिए हर खिलाड़ी में प्रतिभा होनी चाहिए। फुटबॉल में करियर बनाने के लिए आपका कड़ी मेहनत के साथ कुशल और प्रतिभाशाली होना बहुत जरूरी है।

सही समय पर मौका

यह इस खेल में सबसे महत्वपूर्ण बात मानी जा सकती है, आपके पास सहनशक्ति और प्रतिभा दोनों हैं, लेकिन अगर आपको इन्हें दिखाने का मौका नहीं मिल रहा है, तो दोनों चीजें बेकार हो जाती हैं। आज भारतीय नौजवानों के साथ ऐसा ही कुछ हो रहा है, इसलिए आपको सही समय पर अपनी तैयारी शुरू करके अपनी प्रतिभा को लोगों के सामने प्रदर्शित करने का मौका तलाशना चाहिए।

जोश और जुनून

आपमें इस खेल में सफल होने के लिए जोश और जुनून होना चाहिए और लगन के साथ आप हमेशा इसकी प्रैक्टिस करके ही सफल हो सकते हैं। बिना जोश और जुनून के आप किसी भी फील्ड में आगे नहीं बढ़ पाएंगे इसीलिए इन्हें अपने अंदर विकसित करने की कोशिश करें।

धैर्य और विनम्रता

इस फील्ड में धैर्य के बिना आप कड़ी मेहनत नहीं कर पाएंगे और विनम्रता के बिना आप कभी भी इंटरनेशनल लेवल तक नहीं पहुंच पाएंगे इसीलिए इन दोनों क्वालिटी को अपने अंदर विकसित करने की कोशिश करें और हमेशा आगे बढ़ते हुए कड़ी मेहनत करें।

आप इनके बारे में भी पढ़ें –

पैराग्लाइडिंग में करियर कैसे बनाएं?

फॉरेंसिक साइंस में करियर कैसे बनाएं?

हम उम्मीद करते हैं कि दुनिया के सबसे लोकप्रिय, फेमस और पुराने खेल में आप अपना शानदार करियर बनाने में सफल होंगे और विश्व स्तर पर भारत का नाम रोशन करेंगे। हमें खुशी होगी कि आप अपने देश का प्रतिनिधित्व विश्व स्तर पर करेंगे और हमें गोल्ड मेडल दिलाने में कामयाब होंगे।