वास्तव में आत्मविश्वास क्या है?

बिजनेस, जॉब, इंटरव्यू व जीवन के किसी भी मोड़ पर सफलता प्राप्त करने के लिए आत्मविश्वास की बहुत बड़ी भूमिका होती है इसीलिए आपको पता होना चाहिए कि आत्मविश्वास क्या है, Atmavishwas kya hai, अपने आप पर विश्वास का मतलब क्या है, बिजनेस व इंटरव्यू में सफलता के लिए आत्मविश्वास क्यों महत्वपूर्ण है? और आत्मविश्वास के बारे में गलतफहमियां और प्रश्न जिनके बारे में हम हमेशा सुनते आए है।

Table of Contents

आत्मविश्वास क्या है (Atmavishwas kya hai)

आत्मविश्वास की सीधी-सादी परिभाषा है अपने आप पर विश्वास। जब तक आप अपने आप पर विश्वास नहीं कर पाएंगे तब तक लोग आप पर विश्वास कैसे कर पाएंगे इसलिए सबसे पहले अपने आप पर विश्वास रखें और उसके बाद दूसरों से उम्मीद करें।

बिजनेस और इंटरव्यू में सफलता के लिए आत्मविश्वास अति महत्वपूर्ण है। इसके बिना आप ना तो इंटरव्यू का सामना कर पाते हैं और ना ही बिजनेस में लंबे समय तक टिके रह सकते हैं। जिस तरह से बिजनेस जागरूकता व ग्रोथ के लिए पैसों की आवश्यकता होती है उसी तरह से बिजनेस सफलता के लिए योग्य आत्मविश्वासी लीडरशिप की आवश्यकता होती है।

अपने आप पर विश्वास का मतलब (Meaning of Believing in Yourself)

आप कोई निर्णय ले या किसी को वचन दे तो उस निर्णय या वचन को पूरा करने की शक्ति। यह शक्ति ही बताती है कि आप कितने आत्मविश्वासी व्यक्ति है और आप अपने जीवन में किस मुकाम तक पहुंच पाएंगे। आपकी सफलता और असफलता इस शक्ति पर ही निर्भर करती है।

आप कोई निर्णय करें और उस निर्णय को पूरा नहीं कर पाएं या आप किसी को वचन दे और उस वचन को पूरा नहीं कर पाएं तो आप कैसे आत्मविश्वासी व्यक्ति बन सकते है। आप अपने साथ ही धोखा कर रहे है तो आप पर लोग कैसे विश्वास करेंगे।

आत्मविश्वास के बारे में गलतफहमियां और प्रश्न –

क्या आंखों में आंखें डाल कर बातें करना आत्मविश्वास है?

उत्तर – सामने वाले को देख कर या आंखों में आंखें डाल कर बातें करना बेशक अच्छा है। इससे आपका और सामने वाले का ध्यान बना रहता है। अगर आप सामने वाले की आंखों में आंखें डाल कर बातें नहीं कर पाते तो इसका मतलब यह नहीं की आपके अंदर आत्मविश्वास नहीं है, आप ईमानदार नहीं है, आप अच्छा परफॉर्म नहीं कर सकते।

हो सकता है कि आपको इस तरह से बात करने का मौका ही ना मिला हो। हो सकता है कि इस तरह से बात करने की आपकी प्रैक्टिस ना हो। कारण कोई भी हो सकता है लेकिन इस आधार पर यह निर्णय करना कि आपके अंदर आत्मविश्वास नहीं है, बिल्कुल गलत है। 3-6 महीने की प्रैक्टिस करके आप भी सीख सकते है और इस तरह से बातें कर सकते है।

क्या बड़े-बड़े मंचों पर भाषण देना या बोलना आत्मविश्वास है?

उत्तर – आप किसी से बातें कर पा रहे है तो इसका मतलब आप के अन्दर कॉन्फिडेंस है। बिना इसके व्यक्ति किसी से बातें नहीं कर सकता। हां, मैं मानता हूं कि बड़े मंचों पर बोलना या भाषण देना आपकी प्रैक्टिस नहीं है, आपको बोलने में घबराहट महसूस हो रही है, आपके पैर कांप रहे है तो क्या यह मान ले कि आपके अन्दर आत्मविश्वास नहीं है? अगर ऐसा है तो आप बिल्कुल गलत है।

आपके अन्दर और बड़े मंचों पर बोलने वाले व्यक्ति के अन्दर समान आत्मविश्वास है। अन्तर इतना ही है कि आपकी मंच पर बोलने की प्रैक्टिस नहीं है और उस व्यक्ति की प्रैक्टिस है। यह 3-6 माह की प्रैक्टिस के बाद आप भी सीख सकते है इसमें कोई बड़ी बात नहीं है। आप अब से अपने आपको किसी से कम मत समझना। आप में भी वही शक्ति है जो अन्य व्यक्तियों में है। आप भी इस संसार के लिए बहुत कुछ कर सकते है।

क्या बहुत सारे पैसे पास में होने या कमाने से आत्मविश्वास आता है?

उत्तर – बहुत सारे पैसे होना या नहीं यह आप पर निर्भर करता है। आप अपने आप पर विश्वास रखते है, अपको आप पर पूर्ण भरोसा है, आपमें सीखने की क्षमता है तो दुनिया की कोई भी ताकत आपको अमीर बनने से नहीं रोक सकती। आपका बैकग्राउंड कुछ भी हो, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। आपके पास बहुत सारे पैसे होना, इसका आत्मविश्वास बढ़ाएं रखने या बनाएं रखने से कोई सम्बंध नही है।

अगर आपके अन्दर आत्मविश्वास है तो पैसे आपके पास एक दिन अवश्य आ जाएंगे। आत्मविश्वास का गरीबी और अमीरी से कोई लेना-देना नहीं है। अगर ऐसा होता तो इस संसार में गरीबी में रहने वाले व्यक्ति कभी अमीर नहीं बन पाते। आपको हजारों उदाहरण गूगल और यूट्यूब पर मिल जाएंगे इसलिए आत्विश्वास को पैसों से आकना बिल्कुल गलत बात है और यह आपको कभी आगे नहीं बढ़ा सकती।

क्या अंग्रेजी बोलना आत्मविश्वास है?

उत्तर – भाषा के माध्यम से आप अपने विचार दूसरों तक पहुंचाते है। अंग्रेजी एक वैश्विक भाषा है जिसके माध्यम से आप पूरे विश्व में आसानी से संवाद कर सकते है। आपको अंग्रेजी नहीं आती है तो इसका यह मतलब नहीं कि आप Confident नहीं है। आपको हजारों उदाहरण गूगल पर मिल जाएंगे। जिनको अंग्रेजी नहीं आती है फिर भी वे अपने जीवन में अच्छा कर रहे है या अच्छा किया है।

आपको आपकी मातृभाषा आती है तो इससे बड़ी बात ओर क्या हो सकती है। आप अपने विचारों को दूसरों तक इशारों से भी पहुंचा सकते है। अंग्रेजी भाषा एक माध्यम है संवाद आदान-प्रदान करने का। अंग्रेजी भाषा 3-4 महिने की प्रैक्टिस करके आसानी से सीखी जा सकती है इसमें कोई बड़ी बात नहीं है। अंग्रेजी सीखने का सबसे अच्छा माध्यम है यूट्यूब। आप बिना पैसों का निवेश करके घर से आसानी से सीख सकते है।

क्या बड़ी-बड़ी गाड़ियां और बड़ा बंगला पास में होना आत्मविश्वास की निशानी है?

उत्तर – बड़ी-बड़ी गाड़ियां और बंगला आपके मन की उपज है। इनके बिना भी आप अपना जीवन आसानी से चला सकते है। हां, ये कुछ हद तक आपको सुविधा जरूर प्रदान करते है। इन सबका दूर-दूर तक आत्मविश्वास से कोई लेना-देना नहीं है। ये सभी आप धीरे-धीरे आगे बढ़ते हुए भी खरीद सकते है, इसमें कोई बड़ी बात नहीं है।

हां, किसी के पास ये सुविधाएं बहुत जल्दी आ जाती है और किसी के पास देर से आती है। इसलिए यह सोचना की इन सुविधाओं से आत्मविश्वास आता है यह बिल्कुल गलत है। ये सभी सुविधाएं आपकी मेहनत और विश्वास पर निर्भर करती है। जिनको मेहनत और विश्वास के दम पर आसनी से हासिल किया जा सकता है। यह आप भी कर सकते है और इन सभी सुविधाओं का लाभ प्राप्त कर सकते है।

क्या अच्छे कपड़े पहनने से आत्मविश्वास आता है?

उत्तर – अच्छे और महंगे कपड़े पहनना व्यक्ति का शौक (हॉबी) होता है, इसमें कोई बुराई नहीं है लेकिन इसको आत्मविश्वास से जोड़ना बिल्कुल गलत है। यह आपके दिमाग में पैदा किया गया एक जीवाणु है जो व्यक्ति के गुणों को पूर्ण रूप से नकारता है। अमीर और गरीब की खाई को बढ़ाता है। इसका आत्मविश्वास से कोई लेना-देना नहीं है।

अगर ऐसा होता तो साधुओं के प्रवचन कोई नहीं सुनता। साधु या सन्यासी बिजनेस नहीं कर पाते और राजनीति में नहीं जा पाते। भिखारी कभी अपने विश्वास के दम पर आगे नहीं बढ़ पाते। इनके हजारों उदाहरण आपको गूगल, यूट्यूब और किताबों से मिल जाएंगे। कपड़ों के आधार पर किसी का मूल्यांकन करना किसी भी हद तक सही नहीं है, अगर आप ऐसा सोचते है तो यह आपके दिमाग की कमजोरी है।

क्या किसी बड़े पद पर नियुक्त होना आत्मविश्वास है?

उत्तर – जो व्यक्ति अपनी मेहनत, लगन और निष्टा से उच्च पद पर पहुंचता है वह व्यक्ति आत्मविश्वासी हो सकता है। आप भी उच्च पद पर पहुंच सकते है, अगर आप में भी मेहनत, लगन और निष्ठा है। यह एक आत्मविश्वासी व्यक्ति की पहचान है। बिना किसी योग्यता के उच्च पद पर नियुक्त होना आत्मविश्वास नहीं हो सकता।

भगवान ने सबको समान अधिकार दिए है, लेकिन जन्म के बाद हम खुद तय करते है कि हमारा भविष्य कैसा होगा। मजे की बात यह है जो उम्र यानी 15 से 25 साल के बीच की आयु हमारा भविष्य तय करती है उस उम्र में हमें अपनी सही योग्यता के बारे में पता ही नहीं रहता। यही समय हमारा भविष्य तय करता है।

यह समय तो निकल गया, अब जरा ठहरों और सोचों – क्या मैं अब एक नई शुरुआत कर सकता हूं?

हां, आप एक नई शुरूआत कर सकते है, लेकिन इसके लिए आपको वो जरूरी स्किल सीखने होगे जो आवश्यक है। आपको मेहनत करनी पड़ेगी। आप किसी भी उम्र में नई शुरूआत कर सकते है। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि आप पहले से बेहतर करेंगे।

अब आपका माइन्ड सेट लक्ष्य के अनुसार बन जाएंगा, इस कारण आपका दिमाग अच्छी तरह से काम करने लगेंगा। अब आपका लक्ष्य स्पष्ट है इसलिए आप निश्चित रूप से बड़ा कर पाएंगे और अपने परिवार यानी इस संपूर्ण विश्व के लिए कुछ अच्छा कर पाएंगे। यह पूर्णरूप से आप पर निर्भर करता है।

क्या हमेशा सफल होना आत्मविश्वास है?

उत्तर – हर व्यक्ति कभी ना कभी असफल होता है। लक्ष्य को प्राप्त करने में बहुत सारी समस्याएं आती है और कई बार असफल होना पड़ता है। अगर कोई व्यक्ति असफल नहीं होगा तो वह सफलता का आनंद कैसे ले पाएंगा। उसको कैसे पता चलेगा की सफलता का मूल्य क्या है। इसका आत्मविश्वास से कोई सम्बंध नहीं है।

आत्मविश्वास का सम्बंध असफलता से है कि आप कितनी बार गिरकर उठे और लक्ष्य प्राप्त करने के लिए धैर्य के साथ लगे रहे। सफलता से मेरा मतलब यहां जिंदगी का असली आनंद और आपके अंदर की संतुष्टि से है। मेहनत करोंगे तो आप पैसा और उच्च पद प्राप्त कर सकते है लेकिन आनंद और संतुष्टि तभी मिलती है जब आप के अंदर आत्मविश्वास है, आपके अंदर चाहत है कि मैं मेहनत करूंगा तो पैसे और उच्च पद तो कभी-भी प्राप्त कर सकता हूं।

अगर आप बार-बार असफल हो रहे है तो निराश होने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि आप जितनी बार असफल होंगे उतनी बार कुछ नया सीखेंगे। मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि डरो मत, धैर्य के साथ प्रयास करते रहे। एक दिन आप इस दुनिया के लिए कुछ बड़ा करेंगे। कुछ बड़ा करने के लिए समस्याएं हमेशा आती है लेकिन आप इन समस्याओं का सामना कर पाते है या नहीं, यहां आपकी सफलता और असफलता तय होती है।

क्या मनचाहा मिलना आत्मविश्वास है?

उत्तर – आपने जो चाहा वह मिल गया, यह अच्छी बात है। हर व्यक्ति कुछ ना कुछ चाहता है, कभी उसे मिलता है और कभी नहीं। अगर इसका सम्बंध आत्मविश्वास से होता तो हर बार मिलना चाहिए। हर बार क्यों नहीं मिलता? इसका सीधा सम्बंध धैर्य से है। अगर आपने धैर्य रखा और लगातार मेहनत की तो आपने जो चाहा वह एक दिन अवश्य मिलेगा।

धैर्य के साथ सीखते रहने और मेहनत करने से ही आपकी सभी चाहतें पूरी हो सकती है। इसलिए कभी भी ज्यादा सफलता पर खुश होने की जरूरत नहीं है और ज्यादा असफलता पर दुखी होने की जरूरत नहीं है।

प्रकृति का नियम है कि अगर आप लगातार असफल हो रहे है तो कुछ सीखेंगे और इससे आपके अंदर एक अलग प्रकार की उर्जा जागृत होगी जो किसी भी परिस्थिति में आपको हमेशा मोटिवेट और मजबूत बनाए रखेंगी और हमेशा आपको आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करेंगी।

वास्तव में आत्मविश्वास क्या है? (What is Confidence Really)

  • अपने आप पर विश्वास आत्मविश्वास है।
  • आपके मन की शांति आत्मविश्वास है।
  • आपकी संतुष्टि आत्मविश्वास है।
  • आपका स्वास्थ्य आत्मविश्वास है।
  • आपके बोलने की शक्ति आत्मविश्वास है।
  • आपकी ईमानदारी आत्मविश्वास है।
  • आपके सीखने की शक्ति आत्मविश्वास है।
  • आपका ज्ञान आत्मविश्वास है।
  • आपकी समस्याओं का सामना करने की शक्ति आत्मविश्वास है।
  • आपका धैर्य आपका आत्मविश्वास है।
  • आपके मन की पवित्रता आत्मविश्वास है।
  • आपके द्वारा सोच समझकर निर्णय लेना आत्मविश्वास है।

अब, आप कहेंगे कि जो आपने बताया वह सब हमारे पास पहले से मौजूद है।

हां, यह बिल्कुल सत्य है कि बिना आत्मविश्वास के ऊपर दिये गये गुण आपके अंदर नहीं हो सकते। आपको जरूरत है अपने आपको जगाने की, सही दिशा में मेहनत करने की। आपमें वह शक्ति है जो हर किसी से मिलती नहीं है और हर किसी में नहीं है। आप भी इस प्यारी दुनिया के लिए बहुत कुछ कर सकते है इसलिए कभी भी अपने आपको किसी से कम मत समझे।

अपनी तुलना किसी से गलती से भी ना करें क्योंकि भगवान ने हम सभी को बनाते समय किसी भी प्रकार का कोई भेदभाव नहीं किया है इसीलिए हम सभी को अपने आपको सभी से अलग मानते हुए भी यह मानना है कि हम सभी आपस में जुड़े हुए है और एक है।

हम सभी का काम एक दूसरे के बिना नहीं चल सकता। यही सत्य है। इसको आप जितना जल्दी समझ ले उतना आपके लिए बेहतर रहेगा। इसके माध्यम से ही आप अपना जीवन आत्म-सम्मान से व्यतीत कर पाएंगे और इंटरव्यू का सामना करते हुए जॉब प्राप्त कर सकते है और बिजनेस में हमेशा सफलता प्राप्त कर सकते है।