SIP के प्रकार | विभिन्न प्रकार के SIP प्लान

सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान एक लॉन्ग टाइम मनी मेकिंग सिस्टम है और आप विभिन्न प्रकार के एसआईपी प्लान के माध्यम से छोटी बचत में निवेश करके 10-15 साल बाद एक अच्छी एकमुश्त राशि उत्पन्न कर सकते हैं। आप SIP के जरिए कम से कम ₹500 से म्यूचुअल फंड में निवेश शुरू कर सकते है और लॉन्ग टर्म में अच्छा मार्जिन अर्न कर सकते हैं।

SIP के प्रकार या विभिन्न प्रकार के SIP प्लान

SIP मुख्य रूप से तीन प्रकार की होती हैं जिनका हम नीचे वर्णन कर रहे हैं, आप इन SIP Plans में निवेश कर अच्छी इनकम उत्पन्न कर सकते हैं। आप अपनी बचत सुविधा के अनुसार सर्वश्रेष्ठ एसआईपी योजना चुनकर निवेश शुरू कर सकते हैं और लंबी अवधि के लिए अपने भविष्य की योजना बना सकते हैं।

टॉप-अप या स्टेप-अप एसआईपी (Top-up or Step-up SIP)

यह एसआईपी योजना आपकी निवेश राशि को समय-समय पर बढ़ाने की अनुमति देती है जिससे आपको उच्च आय होने पर ओर अधिक निवेश करने की सुविधा मिलती है।

यह नियमित अंतराल पर सर्वोत्तम और उच्च प्रदर्शन करने वाले फंडों में निवेश करके निवेश का अधिकतम लाभ उठाने में मदद करती है। भारत में ग्रीन बैंकिंग प्रणाली को बढ़ाने के लिए एसआईपी सिस्टम को पूर्ण रूप से ऑनलाइन किया गया है।

एसआईपी टॉप-अप को हर साल प्रतिशत या एक निश्चित राशि के रूप में निर्दिष्ट किया जा सकता है। न्यूनतम एसआईपी टॉप-अप राशि ₹500 और ₹500 के गुणकों में होती है।

यह उन निवेशकों के लिए सबसे अच्छा विकल्प है जो बेहतर आय उत्पन्न करने के लिए हर साल अपनी निवेश राशि बढ़ाना चाहते हैं।

उदाहरण – अगर आप ₹ 5,000 प्रति माह से कोई SIP शुरू करते हैं। आप फंड हाउस को एक निश्चित राशि से एसआईपी को स्टेप-अप या टॉप-अप करने का निर्देश दे सकते हैं।

इसलिए, यदि आप प्रत्येक वर्ष ₹1,000 की वृद्धि करना चुनते हैं, तो आपको पहले वर्ष में ₹5,000 प्रति माह, दूसरे वर्ष में ₹6,000 प्रति माह और इसी तरह निवेश करना होगा।

फ्लेक्सिबल एसआईपी (Flexible SIP)

फ्लेक्सी एसआईपी योजना एक वह अवधारणा है जहां एक निवेशक को मासिक आधार पर निवेश राशि बदलने की अनुमति होती है। एक निवेशक अपनी नकदी प्रवाह की जरूरतों या प्राथमिकताओं के अनुसार निवेश की जाने वाली राशि को बढ़ा या घटा सकता है।

जो निवेशक अपने निवेश पर अधिक नियंत्रण रखना पसंद करते हैं, वे इस प्रकार की एसआईपी योजना चुन सकते हैं और यह उनके लिए बेस्ट प्रॉफिटेबल और ज्यादा रिटर्न देने वाला इन्वेस्टमेंट ऑप्शन हो सकता है।

यह ज्यादातर उन निवेशकों द्वारा पसंद की जाती है जो बाजार को करीब से देखते हैं और तदनुसार निवेश की राशि को बदलते रहते हैं।

यदि निवेशक एक निश्चित राशि का निवेश नहीं करना चाहते हैं और अपने निवेश पर अधिक नियंत्रण पसंद करते हैं, तो वे एक फ्लेक्सी एसआईपी योजना के माध्यम से निवेश चुन सकते है।

सबसे पहले, अपनी एसआईपी कटौती के लिए एक डिफ़ॉल्ट राशि निर्दिष्ट करें। निवेशक को महीने के लिए एसआईपी राशि को एसआईपी तिथि के 7 दिनों से पहले वांछित राशि में बदलने की अनुमति है।

यदि आप एसआईपी राशि को बदलना छोड़ देते हैं, तो डिफॉल्ट राशि के साथ कटौती जारी रहेगी। इसमें कोई अतिरिक्त लागत शामिल नहीं है।

परपेचुअल एसआईपी (Perpetual SIP)

व्यवस्थित निवेश योजना (एसआईपी) एक निर्दिष्ट तिथि पर शुरू और समाप्त होती है। अवधि समाप्त होने के बाद एक सामान्य एसआईपी समाप्त हो जाती है।

परपेचुअल एसआईपी में निवेश की कोई निश्चित अवधि नहीं होती है। जब तक आप निवेश करना चाहते हैं, तब तक परपेचुअल एसआईपी जारी रहती है।

आम तौर पर, इलेक्ट्रॉनिक क्लियरिंग सर्विस (ईसीएस) निवेशकों द्वारा एसआईपी भुगतान करने के लिए सक्षम है और इसलिए, जब तक आप अपने बैंक और म्यूचुअल फंड हाउस को सूचित नहीं करते, तब तक स्थायी एसआईपी समाप्त नहीं होंगी।

इस विकल्प के तहत, आप केवल एक निश्चित राशि को नियमित रूप से जब तक चाहें तब तक म्यूचुअल फंड में स्थानांतरित कर सकते हैं। इस तरह से आप अपनी जनरेशनल वेल्थ बढ़ा सकते हैं।

यह आपको अपनी पसंद के समय या जब आपका वित्तीय लक्ष्य प्राप्त हो जाता है, तब आप अपना एसआईपी समाप्त कर सकते हैं क्योंकि कोई निश्चित अवधि संलग्न नहीं है।

एसआईपी मैंडेट साइन अप करते समय, आपके पास अंतिम तिथि कॉलम को खाली छोड़ने का विकल्प होता है। यदि कॉलम खाली है, तो इसका मतलब है कि निवेशक ने स्थायी एसआईपी का विकल्प चुना है।

यह एसआईपी निवेशक को जब भी आवश्यकता हो या जब निवेशक ने अपने वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त कर लिया हो, तब धन को भुनाने की अनुमति देता है।

यदि आपके पास भविष्य में एक महत्वपूर्ण वित्तीय लक्ष्य है और आप एक बड़ी राशी बनाना चाहते हैं तो यह SIP निवेश एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

अच्छा रिटर्न पाने के लिए लंबी अवधि के निवेश के लिए परपेचुअल एसआईपी यानी लगातार SIP या स्थाई SIP की सलाह दी जाती है।

एसआईपी में निवेश करना बहुत ही आसान है। आप ऊपर बताएं गए एसआईपी के विभिन्न प्रकारों (Types of SIP in Hindi) के माध्यम से अपनी बचत को निवेश कर सकते हैं।

कृपया, निवेश करने से पहले म्यूच्यूअल फंड हाउस से एसआईपी प्लान के बारे में अच्छी तरह से जानकारी प्राप्त कर ले, यह आपकी निवेश सुरक्षा के लिए बेहतर रहेगा।