स्टार्टअप फंडिंग कैसे प्राप्त करें?

स्टार्टअप शुरू करने या चलाने के लिए पैसा बहुत जरूरी है। इस पैसे का उपयोग विभिन्न खर्चों जैसे कार्यालय सेटअप, इन्वेंट्री प्रबंधन, उत्पाद विकास, मार्केटिंग, स्टार्टअप और उत्पाद निर्माण को बढ़ाने आदि में किया जाता है। इस पैसे को व्यवसाय या स्टार्टअप की भाषा में फंड कहा जाता है और इस फंड को किसी के माध्यम से या मध्यस्थों के द्वारा प्राप्त करना फंडिंग कहा जाता है।

स्टार्टअप फंडिंग कैसे प्राप्त करें? (Startup Funding kaise prapt kare)

आज के प्रतिस्पर्धी युग में किसी व्यवसाय या स्टार्टअप को लंबे समय तक बाजार में बनाए रखना बहुत मुश्किल काम हो गया है। बिजनेस या स्टार्टअप को बाजार में बने रहने के लिए तरह-तरह के खर्चे करने पड़ते हैं।

इन खर्चों के लिए बहुत सारे फंड की आवश्यकता होती है जो विभिन्न प्रकार के लोगों या निवेशकों से प्राप्त करना होता है। इस फंड को एक साथ प्राप्त करना फंडिंग कहलाता है। यह Startup Funding कहां से मिलेगी और कैसे यह एक बड़ा सवाल है।

स्टार्टअप फंडिंग प्राप्त करने के लिए बिजनेस मॉडल बनाना

कुछ स्टार्टअप या व्यवसाय अपना खुद का फंड लगाते हैं और कुछ को किसी तीसरे पक्ष से स्टार्टअप फंडिंग मिलती है। आपको थर्ड पार्टी से स्टार्टअप फंडिंग प्राप्त करने के लिए बिजनेस मॉडल बनाना होगा, जैसे –

  1. स्टार्टअप कैसे शुरू होगा?
  2. स्टार्टअप कैसे बढ़ेगा और स्केल करेगा?
  3. लाभ कैसे होगा?
  4. कितने पैसे खर्च करने होंगे?
  5. जोखिम कारक क्या होगे?
  6. स्टार्टअप कब और कैसे बढ़ेगा?
  7. स्टार्टअप बाजार पर कितना कब्जा करेगा?
  8. स्टार्टअप फेल होने पर बी प्लान या सेकेंड प्लान क्या होगा?

आपको निवेशकों के सामने बिजनेस मॉडल पेश करना होगा। निवेशकों को पूरी तरह से संतुष्ट करना पड़ेगा कि यह स्टार्टअप भविष्य में अच्छा रिटर्न प्रदान करेगा।

यदि निवेशक पूरी तरह से संतुष्ट होते हैं, तो आपको कानूनी दस्तावेजों की प्रक्रिया को पूरा करना होगा जैसे कि: –

  1. निवेशकों से कितना फंड मिलेगा?
  2. स्टार्टअप में निवेशकों के शेयर क्या होंगे?
  3. स्टार्टअप फंडिंग के लिए आपको कितनी किस्तें मिलेंगी?
  4. निवेशक व्यवसाय में निर्णय ले सकते हैं या नहीं?

पूरी प्रक्रिया को पूरा करने में करीब 4 से 8 महीने का समय लग सकता है। यह निर्भर करता है कि आप कितनी जल्दी अपनी तैयारी करते हैं और समय-समय पर आप कितनी जल्दी पूरी प्रक्रिया को पूरा करते हैं।

क्या नए स्टार्टअप्स को फंडिंग प्राप्त करनी चाहिए?

एक नए स्टार्टअप या व्यवसाय के लिए शुरुआती चरण में स्टार्टअप फंडिंग प्राप्त करना थोड़ा मुश्किल काम है लेकिन अच्छी तैयारी और प्रस्तुति के साथ आप शुरुआती फंडिंग यानी सीड फंडिंग ले सकते हैं।

हमारे अनुसार आपको अपनी बचत या खुद के पैसों से स्टार्टअप शुरू करना चाहिए। आपका मुख्य उद्देश्य अपने स्टार्टअप को धीरे-धीरे आगे बढ़ाना और एक अच्छे स्तर पर ले जाना होना चाहिए। अपना स्टार्टअप शुरू करने से पहले Startup क्या है और ज्यादातर स्टार्टअप असफल क्यों होते है? के बारे में अवश्य जानकारी प्राप्त करें।

जब आप पूरी तरह से आश्वस्त हो जाएं कि मैं इस व्यवसाय को बहुत अच्छी तरह से प्रबंधित कर सकता हूं और इस व्यवसाय में ग्रो होने की क्षमता है, उसके बाद ही आप फंडिंग के बारे में सोचे, ताकि आप बाजार में अपने स्टार्टअप को बहुत अच्छी तरह से विकसित कर सके।

स्टार्टअप फंडिंग प्राप्त करने के लिए सलाह

फंडिंग लेने में कोई हर्ज नहीं है लेकिन फंडिंग लेने के बाद बहुत दबाव होता है जैसे- स्टार्टअप को तेजी से आगे बढ़ाना, निवेशकों के हिसाब से बिजनेस चलाना, निवेशकों के दबाव में खुलकर फैसले न ले पाना आदि इससे प्रबंधन और निर्णय लेने में कई मुश्किलें आती हैं और स्टार्टअप के विफल होने की संभावना बढ़ जाती है।

आप फंडिंग प्राप्त करके स्टार्टअप को बड़ा बना सकते हैं लेकिन इसके साथ ही आप Startup में अपनी हिस्सेदारी भी निवेशकों को दे देते हैं जो धीरे-धीरे स्टार्टअप में आपका नियंत्रण कम कर देती है और यह आपके स्टार्टअप के लिए खतरनाक है क्योंकि इसके लिए निर्णय लेने और प्रबंधन की शक्ति आपके हाथ में नहीं रहती है।

यदि आप एक स्टार्टअप शुरू करना चाहते हैं, तो स्टार्टअप फंडिंग के बारे में सोचना भी आप पर निर्भर है क्योंकि आप जानते हैं कि आपको क्या करना है और आप अपना स्टार्टअप या व्यवसाय किस स्तर पर ले जाना चाहते हैं।

याद रखें, वह व्यक्ति या स्टार्टअप एक सफल उद्यमी होता है जो आधुनिक तकनीक के साथ चलता है या समय-समय पर तकनीक के अनुसार बदलता रहता है। इसलिए आधुनिक तकनीक अपनाएं, परिस्थितियों के अनुकूल बनें, तभी आप एक सफल उद्यमी बन सकते हैं।

हमें उम्मीद है कि आप अपना स्टार्टअप शुरू करेंगे और लोगों को रोजगार देंगे। आप अपने आइडिया पर अच्छी तरह मंथन करेंगे और अपने स्टार्टअप को ओर भी बड़ा बनाएंगे और अपनी क्षमता का विश्लेषण करते हुए सोचेंगे कि क्या मैं एक स्टार्टअप शुरू कर सकता हूं?

देश और पूरी दुनिया को आपके आइडिया की जरूरत है। अगर बेरोजगार लोगों की कोई कमी नहीं है तो बाजार में पैसों की भी कोई कमी नहीं है, बस आपको शुरुआत करने की जरूरत है। यदि आपका आइडिया पूरी तैयारी के साथ अच्छा है, तो आप पूरे कारोबारी माहौल के साथ स्टार्टअप फंडिंग प्राप्त कर सकते हैं।