म्यूचुअल फंड के फायदे और नुकसान

क्या आप म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहते हैं और म्यूचुअल फंड के फायदे और नुकसान (Advantages and Disadvantages of Mutual funds in Hindi) के बारे में जानना चाहते हैं, तो हम इसके बारे में चर्चा कर रहे हैं जो आपको सही निवेश निर्णय लेने में मदद करेगे।

Table of Contents

म्यूचुअल फंड न्यूनतम राशि, कम जोखिम और उच्च कमाई क्षमता के साथ निवेश करने का सबसे अच्छा तरीका है इसलिए अगर आपको शेयर बाजार की ज्यादा जानकारी नहीं है और आप शेयर बाजार से अच्छा रिटर्न पाना चाहते हैं तो आपको म्यूचुअल फंड में निवेश जरूर करना चाहिए।

म्यूचुअल फंड के फायदे (Advantages of Mutual Funds)

म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने के कई फायदे हैं, यह हमें शेयर बाजार की जानकारी के बिना निवेश करने की आजादी देता है और रिटर्न के रूप में अच्छा आउटपुट प्रदान करता है।

लेकिन, निवेश करने से पहले आपको म्यूचुअल फंड के फायदे और नुकसान के बारे में पता होना चाहिए और इसके साथ ही म्यूचुअल फंड के बारे में शुरुआती जानकारी भी होनी चाहिए, तो आइए Mutual Funds में निवेश करने के फायदे और लाभों के बारे में जानते हैं।

पेशेवर धन प्रबंधन (Professional Money Management)

म्यूचुअल फंड में निवेश करने का एक प्रमुख लाभ यह है कि प्रत्येक निवेशक को पेशेवर धन प्रबंधन और विशेषज्ञता प्राप्त होती है। म्यूचुअल फंड के विभिन्न प्रकार को इनके एक्सपर्ट अच्छी तरह से मैनेज करते हैं।

एक पेशेवर फंड मैनेजर सबका ध्यान रखता है और निर्णय लेता है कि आपके निवेश का क्या करना है। वह तय करता है कि इक्विटी या डेट में निवेश करना है, होल्ड करना है या नहीं और कितने समय के लिए।

नए निवेशकों के लिए यह बहुत बड़ी बात है क्योंकि उन्हें शेयर बाजार के बारे में कोई जानकारी नहीं होती है और म्यूचल फंड के एक्सपर्ट के द्वारा कमाई के रूप में अच्छा रिटर्न प्राप्त करते हैं।

फंड मैनेजर अनुसंधान करते हैं, सर्वोत्तम प्रतिभूतियों का चयन करते हैं, प्रदर्शन की निगरानी करते हैं और इष्टतम रिटर्न प्रदान करते हैं। यह सुविधा नए और औसत दर्जे के निवेशकों के लिए एक सुरक्षा कवच है।

पोर्टफोलियो विविधीकरण (Portfolio Diversification)

एक निवेशक के लिए थोड़ी सी राशि के साथ अपने दम पर निवेश का एक अलग पोर्टफोलियो बनाना बहुत मुश्किल होता है। म्यूचुअल फंड में, प्रत्येक निवेशक योजना द्वारा उत्पन्न रिटर्न में आनुपातिक रूप से भाग लेता है।

फंड विविधीकरण म्यूच्यूअल फंड के सबसे प्रभावशाली फायदों (advantages of mutual funds in Hindi) में से एक है। जो विभिन्न प्रकार के इक्विटी फंड्स में अधिक राशि का निवेश करता है और अच्छा आउटपुट देने की कोशिश करता है।

म्युचुअल फंड में थोड़ा जोखिम होता है क्योंकि उनका प्रदर्शन बाजार की गति पर आधारित होता है। इसलिए, जोखिम को फैलाने और कम करने के लिए फंड मैनेजर हमेशा एक से अधिक एसेट क्लास जैसे इक्विटी, डेट, मनी मार्केट इंस्ट्रूमेंट आदि में निवेश करता है।

यह विविधीकरण शुद्ध इक्विटी फंड की तुलना में आपके जोखिम को कम करता है और अच्छा आउटपुट देने की क्षमता रखता है।

नए निवेशकों के लिए सर्वश्रेष्ठ (Best for New Investors)

म्युचुअल फंड नए और कम जानकार निवेशकों के लिए सबसे अच्छा विकल्प माना जाता है क्योंकि इसमें निवेश करने के लिए किसी भी तरह के बाजार ज्ञान की आवश्यकता नहीं होती है और हम कहीं से भी, कभी भी निवेश शुरू कर सकते हैं।

म्यूचुअल फंड के मुख्य बेनिफिट में से एक यह है कि वे नए निवेशकों के लिए सबसे अच्छे हैं, क्योंकि उन्हें निवेश करने के लिए किसी भी प्रकार के शेयर बाजार के ज्ञान की आवश्यकता नहीं होती है।

यह 2 से 5 वर्षों के बाद नए निवेशकों को अच्छा रिटर्न देने की कोशिश करते है, इसकी विभिन्न निवेश योजनाएं इसे बाजार में निवेश करने का सबसे अच्छा माध्यम बना रही हैं।

आपको बस निवेश करना है और विशेषज्ञ द्वारा उनकी टीम की मदद से अन्य सभी कार्य जैसे फंड प्रबंधन, बाजार अनुसंधान और धन निवेश आदि अपने आप किये जाते है।

वहनीय और किफायती निवेश योजना (Affordable Investment Plan)

म्यूच्यूअल फण्ड सभी निवेशकों के लिए अच्छे माने जाते है क्योंकि इसकी बहुत कम फीस होती है और हर कोई न्यूनतम राशि यानी ₹500, 1000 और अपनी निवेश क्षमता के अनुसार निवेश करना शुरू कर सकता है।

म्यूचुअल फंड का यह लाभ अधिक निवेशकों को आकर्षित करता है क्योंकि हमारे देश में ज्यादातर लोग मध्यम वर्ग और वेतन आधारित हैं।

वे एक साथ बड़ी राशि या एकमुश्त राशि का निवेश नहीं कर सकते हैं, लेकिन म्यूचुअल फंड योजना द्वारा वे शेयर बाजार में निवेश करने में सक्षम होते है और एक्सपर्ट के माध्यम से इष्टतम रिटर्न प्राप्त करते हैं।

इसकी व्यवस्थित निवेश योजना सभी निवेशकों को एक छत के नीचे निवेश करने की क्षमता प्रदान करती है। आप डेट फंड के विभिन्न प्रकार में निवेश करके अच्छा रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं।

फ्यूचर प्लानिंग के लिए बेहतर (Better for Future Planning)

अधिकांश लोग अपने भविष्य के बारे में जागरूक होते हैं, इसलिए वे अपनी बचत को बैंकों में जमा करने के बजाय निवेश करके कुछ पैसा कमाना चाहते हैं ताकि समय के साथ पैसा बढ़ सके। फ्यूचर प्लानिंग के लिए म्यूचुअल फंड सबसे अच्छा विकल्प है।

आज सरकारें लगातार बैंक जमाओं पर ब्याज दरों को कम कर रही हैं, इसलिए म्यूचुअल फंड एक छोटे और मध्यम निवेशक के लिए पैसा निवेश करने का सबसे अच्छा विकल्प बन गया है, जो औसतन 10-15 प्रतिशत रिटर्न देने की क्षमता रखता है।

यह एक नए निवेशक के लिए अच्छा है जिसे शेयर बाजार की जानकारी नहीं है और अपने भविष्य की चिंता है।

अत्यधिक तरल निवेश विकल्प (Highly Liquidity Investment Option)

जब तक आप क्लोज-एंडेड म्यूचुअल फंड नहीं चुनते, तब तक म्यूचुअल फंड स्कीम को खरीदना और उससे बाहर निकलना अपेक्षाकृत आसान होता है। आप अपनी इकाइयों को बाजार के किसी भी बिंदु पर बेच सकते हैं।

म्युचुअल फंड निवेशक अपने शेयरों या इकाइयों को किसी भी समय वर्तमान शुद्ध संपत्ति मूल्य (NAV) और किसी भी मोचन शुल्क पर आसानी से भुना सकते हैं।

आप अपना पैसा निकालने के लिए पूरी तरह से स्वतंत्र हैं, जब भी आपको जरूरत महसूस हो, आप अपना पैसा निकाल सकते हैं। आप अपनी इकाइयों को किसी भी समय खरीद और बेच सकते हैं,

आपका पैसा ट्रेडिंग दिवस के अंत में या अगले दिन आपके फंड खाते में आ जाएगा। यह म्यूच्यूअल फंड का फायदा ही निवेशकों के बीच इसे सबसे लोकप्रिय बनाता है।

निम्न से मध्यम जोखिम (Lower to Moderate Risk)

म्यूचुअल फंड स्कीम में निवेश करने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसमें शेयर बाजार की तुलना में सबसे कम जोखिम होता है, फिर भी यह बैंक जमा की तुलना में जोखिम भरा होता है, लेकिन इसके विशेषज्ञ प्रबंधन और त्वरित प्रतिक्रिया प्रणाली की मदद से नुकसान की संभावना कम से कम होती है।

विशेषज्ञों की राय में, म्यूचुअल फंड में शुद्ध इक्विटी बाजार की तुलना में कम रिटर्न होता है, लेकिन यहां, निवेशकों का लगभग 90% पैसा सुरक्षित माना जाता है।

हालांकि, निवेश से पहले, किसी भी निवेशक को अपनी फंड स्किम के बारे में बुनियादी जानकारी अपनी संतुष्टि के लिए कर लेनी चाहिए ताकि आप अंदर से शांत और अच्छा महसूस करें।

निवेश पारदर्शिता (Investment Transparency)

ट्रेडिंग दिवस के अंत में आपको हमेशा अपने फंड या यूनिट का मूल्यांकन एनएवी के अनुसार मिलता है और आप अपने फंड खाते में किसी भी समय शेष राशि देख सकते हैं।

आप अपने फंड पोर्टफोलियो का विश्लेषण कर सकते हैं और सही समय पर सही निर्णय ले सकते हैं; यह पूरी तरह से आपके ऊपर निर्भर है।

इसकी पारदर्शिता इसे मध्यम जोखिम और रिटर्न के साथ निवेश के दृष्टिकोण से उच्च गुणवत्ता वाला निवेश विकल्प बनाती है। ज्यादातर मात्रा में भारत के टॉप कंपनियां म्यूच्यूअल फंड निवेश के लिए उपयुक्त मानी जाती है।

अपनी आवश्यकताओं के अनुसार, आप फंड या इकाइयों को खरीद और बेच सकते हैं और इसकी पारदर्शिता नामक विशेषता द्वारा सही निर्णय लेते हुए इष्टतम आउटपुट प्राप्त कर सकते हैं।

निवेश करने में आसान (Easy to Invest)

म्यूचुअल फंड में निवेश करना बिल्कुल आसान है। कोई भी व्यक्ति, चाहे युवा हो या बूढ़ा, शिक्षित हो या अनपढ़, महिला हो या पुरुष, कहीं भी रहता हो, हर कोई शेयर बाजार की जानकारी के बिना म्यूचुअल फंड में आसानी से निवेश कर सकता है।

इसके अलावा, हमें आसान और सरल निवेश करने का कोई अन्य विकल्प नहीं मिल सकता। आपकी पूंजी को निवेश करने का इससे अच्छा फायदा ओर क्या हो सकता है।

जब भी निवेश करने की सोचे तो म्यूच्यूअल फण्ड के बारे में जरूर सोचे। केवल, आपको म्यूचुअल फंड हाउस या वेबसाइट पर जाकर रजिस्टर करना होगा, यदि लागू हो तो कुछ शुल्क का भुगतान करें और आप अपनी न्यूनतम निवेश क्षमता के साथ निवेश शुरू कर सकते हैं।

स्वचालित पुनर्निवेश योजना (Automatic Reinvestment Plan)

म्यूचुअल फंड में ऑटोमैटिक रीइन्वेस्टमेंट प्लान चुनकर आप अपनी कमाई को ओर बढ़ा सकते हैं। यह योजना आपको बिना कोई अतिरिक्त पैसा और समय खर्च किए अपने रिटर्न और लाभांश का पुनर्निवेश करने की अनुमति देती है।

आप अपनी सुविधा के अनुसार इन्वेस्टमेंट प्लान चुन सकते हैं। म्यूच्यूअल फण्ड योजना का यह एक अच्छा लाभ व फायदा है।

आप अपने फंड मैनेजर को सूचित करके कभी भी इस सुविधा का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इस विकल्प को शुरू करने के बाद आपको जो भी कमाई होगी, वह कमाई अपने आप फिर से निवेश हो जाएगी, जिससे आपका फंड पोर्टफोलियो बजट बहुत तेजी से बढ़ेगा।

एक से अधिक निवेश विकल्प (Multiple Investment Options)

म्यूचुअल फंड में निवेश करते समय निवेशकों को कई तरह के निवेश विकल्प मिलते हैं। वे न केवल अपने निवेश उद्देश्य के अनुसार फंड चुन सकते हैं, बल्कि वे जितना रिटर्न प्राप्त करना चाहते हैं, उसके आधार पर भी फंड चुन सकते हैं।

निवेश बहुलीकरण की विशेषता म्यूचुअल फंड को जनता के बीच एक लोकप्रिय निवेश विकल्प बनाती है।

म्यूचुअल फंड में आपको कई तरह के निवेश विकल्प मिलते हैं जैसे लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट, शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट, हाइब्रिड इन्वेस्टमेंट, लो रिस्क, हाई रिस्क, हाई रिटर्न, मीडियम रिटर्न, लो रिटर्न, सिक्योर्ड फंड, अनसिक्योर्ड फंड आदि।

आप आपकी निवेश क्षमता के अनुसार इनमें से किसी एक को चुनकर निवेश कर सकते हैं।

एकमुश्त या किस्त आधारित निवेश (Lump Sum or Installments Investment)

आप म्यूचुअल फंड में एकमुश्त या किस्तों में निवेश कर सकते हैं। यदि आपके पास निवेश करने के लिए एकमुश्त राशि है और आपको लगता है कि बाजार पक्ष में है,

तो आप एकमुश्त निवेश कर सकते हैं या यदि आप वेतन के आधार पर हैं, तो आप इसके किस्त विकल्प का उपयोग कर सकते हैं और मासिक, त्रैमासिक या वार्षिक आधार पर एक निश्चित राशि का निवेश कर सकते हैं, जो कुछ वर्षों के बाद धीरे-धीरे अच्छी रकम बन जाएगी।

इसकी एसआईपी निवेश योजना छोटे और मध्यम निवेशकों के लिए सबसे बड़ा फायदा माना जाता है क्योंकि यह कम से कम निवेश राशि के साथ निवेश की सुविधा प्रदान करती है।

आज बाजार में 70% से अधिक छोटे निवेशक हैं और वे इस सुविधा का बहुत अच्छे से उपयोग कर रहे हैं। इसलिए अगर आप भी वेतनभोगी हैं तो SIP योजना का लाभ उठाएं।

विकासोन्मुखी निवेश (Growth-oriented Investment)

म्यूचुअल फंड का एक अन्य लाभ यह है कि यह आपको विकासोन्मुख निवेश करने की अनुमति देता है। विशेषज्ञ, अपने ज्ञान और अनुसंधान के आधार पर सही शेयरों का चयन करते है और जोखिम के अनुसार विविधीकरण करके निवेशकों को अधिकतम आउटपुट देने का प्रयास करते है।

इसमें फंड मैनेजर नामी कंपनियों के शेयरों में निवेश करते है, जिससे रिस्क कम हो जाता है और अच्छे रिटर्न की संभावना बहुत ज्यादा हो जाती है।

इसकी त्वरित प्रतिक्रिया प्रणाली निवेशकों को किसी भी बड़े जोखिम से बचाती है, जिसे Mutual Funds की सबसे शक्तिशाली विशेषताओं में से एक माना जाता है।

म्यूचुअल फंड के नुकसान (Disadvantages of Mutual Funds)

म्यूचुअल फंड में निवेश करने के कई फायदों के साथ कुछ प्रमुख नुकसान भी होते हैं इसलिए इनके बारे में आपको जानकारी होनी चाहिए। कृपया, निवेश करने से पहले उचित जानकारी प्राप्त कर लेवे और किसी की सलाह और कहने पर निवेश ना करें।

तो आइए जानते हैं, म्यूच्यूअल फंड के नुकसानों के बारे में (Disadvantages of Mutual Funds in Hindi) जो आपको एक उचित इन्वेस्टमेंट डिसीजन लेने में मदद करेगे।

रिटर्न में उतार-चढ़ाव (Fluctuating Returns )

म्यूचुअल फंड निश्चित गारंटीड रिटर्न नहीं देते हैं। इन फंडों में हमेशा उतार-चढ़ाव होता रहता है। कभी ये फंड ज्यादा तो कभी कम रिटर्न देते हैं और कभी शॉर्ट टर्म में भारी नुकसान भी उठना पड़ता हैं।

यह बाजार के प्रदर्शन पर निर्भर करते है इसलिए सोच समझकर निवेश करें। क्योंकि, आपका निवेश फंड मैनेजर के हाथ में जाता है और अगर आपका निवेश गलत हाथों में चला जाता है तो आपको भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है।

आपका कोई नियंत्रण नहीं होता है (You have no Control)

म्यूचुअल फंड के विभिन्न प्रकार का प्रबंधन फंड मैनेजर द्वारा किया जाता है, इसलिए म्यूचुअल फंड के प्रबंधन पर आपका कोई नियंत्रण नहीं होता है।

फंड मैनेजर आपकी ओर से सभी निवेश निर्णयों का प्रबंधन करते हैं जो कभी-कभी गलत भी हो सकते हैं और भारी नुकसान का कारण भी बन सकते हैं।

फंड का मूल्यांकन करने में सक्षम नहीं (Not able to evaluate funds)

विभिन्न प्रतिभूतियों में पैसा निवेश करने से निवेशकों के लिए विभिन्न फंडों का मूल्यांकन करना मुश्किल हो सकता है। यह पता लगाना कुछ जटिल हो सकता है कि किसी विशेष फंड ने दूसरे की तुलना में कैसा प्रदर्शन किया।

म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने का यह आपके लिए सबसे बड़ा नुकसान हो सकता है। हालांकि, फंड हाउस आपको फंड का मूल्यांकन करने की सुविधा देता है लेकिन फिर भी आपके लिए यह थोड़ा मुश्किल काम हो सकता है।

म्यूचुअल फंड में हमेशा जोखिम रहता है (Risk)

म्युचुअल फंड में हमेशा जोखिम रहता हैं, इसलिए एक अच्छी योजना में समझदारी से निवेश करें और किसी के कहने पर निवेश न करें,

क्योंकि गलत जानकारी या गलत जगह पर निवेश हमेशा नुकसान पहुंचाता है और भारी हानि उठाना पड़ सकती है। इसलिए, आपको बेस्ट स्टॉक मार्केट ऐप की मदद लेनी चाहिए।

म्यूचुअल फंड कंपनियों का गलत हित (Wrong Interest)

कुछ कंपनियां अधिक से अधिक फंड प्राप्त करने के लिए बनाई जाती हैं और अपने हित के लिए उचित बाजार विश्लेषण के बिना निवेश करती हैं।

यह निवेशकों के लिए बहुत हानिकारक होता है। इसलिए निवेश करने से पहले म्यूचुअल फंड कंपनी के बारे में अच्छी तरह से जांच-पड़ताल कर लें।

गलत सलाह (Wrong advice)

कुछ फंड मैनेजर निवेशकों को अपनी नौकरी बचाने के लिए गलत जगह निवेश करने की गलत सलाह देते हैं, जिससे निवेशकों को म्यूचुअल फंड में निवेश करने पर भारी नुकसान हो सकता है।

कुछ निवेशकों को अपने रिश्तेदार या किसी से जानकारी मिलती है और म्यूचुअल फंड में पैसा लगाते हैं, यह हानिकारक या नुकसान का कारण हो सकता है।

निवेश के दृष्टिकोण से देखे तो म्यूचुअल फंड के बहुत सारे फायदे (many benefits of mutual funds) है और बहुत कम निवेश करने के नुकसान है।

एक निवेशक के रूप में, आपको यह तय करना होगा कि आपकी भविष्य की योजना क्या है, आपका निवेश बजट क्या है, आप कितना जोखिम उठा सकते हैं, आप कितना कमाना चाहते हैं और ये सभी कारक आपकी निवेश क्षमता को निर्धारित करते हैं।

इसलिए कहीं भी निवेश करने से पहले सबसे पहले अपनी निवेश योजना बनाएं और यदि आप उस योजना के अनुसार निवेश करते हैं तो आपको भविष्य में बिना तनाव के अधिक लाभ मिलेगा।