पैसों वाला पेशा – फाइनेंस में करियर बनाने के अवसर

पैसों का प्रबंधन या मनी मैनेजमेंट एक प्रकार का विज्ञान है जिसमें पैसे और लोगों के प्रबंधन की कला शामिल है। फाइनेंस को मुख्य रूप से पैसों वाला पेशा भी कहा जाता है। करियर के लिहाज से यह एक शानदार विकल्प उभर कर सामने आया है। 

अगर कला और विज्ञान का यह मिश्रण आपके भीतर हैं तो फाइनेंस के क्षेत्र में आपका स्वागत है। विश्वभर में फाइनेंस के एक्सपर्ट औसतन 8 से 60 लाख रुपए प्रति वर्ष तक वेतन प्राप्त करते हैं। कई संभावनाओं से भरा यह क्षेत्र कॉर्पोरेट सेक्टर में सबसे अधिक उपयोग में आता है।

फाइनेंस में करियर बनाने के अवसर

बिजनेस व कंपनियां आपके अनुभव और विशेषज्ञता पर विश्वास करते हैं और आपको धन के प्रबंधन की जिम्मेदारी सौंपते हैं। वे आपके अनुभव से बेस्ट आउटपुट की उम्मीद करते हैं और आप भी अपना शत-प्रतिशत देकर उन्हें बेस्ट आउटपुट देने की कोशिश करते हैं।

काबिलियत के  करियर का दर्जा प्राप्त यह क्षेत्र कॉमर्स, बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन, इकोनॉमिक्स, फाइनेंस, गणित और मैनेजमेंट पृष्ठभूमि के उम्मीदवारों का स्वागत करता है। फाइनेंशियल में स्पेशलाइज्ड उम्मीदवारों के लिए यहां कई नौकरियों के अवसर मौजूद है।

अगर आप इनमें से किसी भी विषय में बैचलर या मास्टर डिग्री प्राप्त करके अपने करियर की शुरुआत करते हैं तो आपके लिए टॉप कंपनियों में ही नहीं बल्कि छोटे और मध्यम बिजनेस  में भी जॉब के कई सारे अवसर मौजूद होंगे। 

फाइनेंशियल इंडस्ट्री में मुख्य रूप से उन उम्मीदवारों के लिए दरवाजे खुल जाते हैं जिनके पास रिटेल, कॉरपोरेट, इन्वेस्टमेंट रिसर्च एण्ड एनालिटिक्स, असेट मैनेजमेंट, सिक्योरिटी ब्रोकिंग, स्टॉक मार्केट, म्यूच्यूअल फंड, बिजनेस एनालिसिस, डाटा एनालिसिस आदि का अनुभव है।

फाइनेंस के उम्मीदवारों के लिए प्राइवेट व सरकारी बैंक्स, स्टॉक ब्रोकिंग फर्म, म्यूच्यूअल फंडस, पेंशन फंड्स, प्राइवेट इक्विटी फंड्स, इंश्योरेंस कंपनियां, इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस बैंक्स, क्रेडिट रेटिंग एजेंसियां, सिक्योरिटी रिसर्च फर्म्स आदि में अनुभव के आधार पर कई नौकरियां उपलब्ध है।

यह तो अवसरों की झलक मात्र हैं। दरअसल, पिछले डेढ़ दशक में वित्त क्षेत्र में काफी विस्तार देखा गया है। इस सेक्टर ने पारंपरिक नौकरियों के अलावा अनेक नए बिजनेस व जॉब के अवसरों को जन्म दिया है।

एक दशक पहले फाइनेंशियल प्लानर या वेल्थ  मैनेजर जैसी नौकरियां अस्तित्व में नहीं थी लेकिन अब यह नियुक्तियां किसी पहचान की मोहताज नहीं है। अगर आप भी फाइनेंस में कैरियर बनाने की सोच रहे हैं तो यह समय आपके लिए सबसे उपयुक्त समय हैं।

 फाइनेंस में अवसरों की खान

अगर आप फाइनेंस के किसी भी फिल्ड में अनुभव रखते हैं और नौकरी प्राप्त करना चाहते हैं तो आपके लिए सरकारी से लेकर प्राइवेट सेक्टर सभी में बहुत सारी नौकरियां मौजूद है। आप नीचे बताए गए विभिन्न संस्थानों में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

कमर्शियल बैंककॉ-आपरेटिव बैंक
वित्तीय संस्थाएंगैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियां
जीवन बीमा  पेंशन फंड
सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडियाम्यूचुअल फंड
कैपिटल मार्केटस्टॉक मार्केट
कमोडिटी मार्केटमर्चेंट बैंकर
ब्रोकरेज फर्मक्रेडिट रेटिंग एजेंसीज
स्मॉल फाइनेंस बैंकइनकम टैक्स डिपार्टमेंट
बिजनेस डिपार्टमेंटएकाउंट डिपार्टमेंट
फंड ट्रांसफर एजेंसीजमिनिस्ट्री ऑफ कंज्यूमर अफेयर्स
स्टॉक एक्सचेंजअन्य सरकारी वित्त विभाग

फाइनेंस सेक्टर के प्रमुख लोकप्रिय कॉर्स व डिग्रियां

फाइनेंस सेक्टर के संदर्भ में एक्सपर्ट कहते है कि यह इंडस्ट्री अनेकों बेहतरीन अवसर उपलब्ध करवा रही हैं जैसे कैपिटल बजटिंग, रिस्क मैनेजमेंट, प्रोजेक्ट एनालिसिस एंड इवैल्यूएशन, फाइनेंसियल प्लानिंग, कॉरपोरेट  फाइनेंस, स्टॉक ब्रोकिंग, इन्वेस्टमेंट बैंकिंग, कॉमर्शियल बैंकिंग, कमोडिटी ट्रेंडिंग प्रमुख उदाहरण है।

जीतने अवसर इस क्षेत्र में पैदा हुए हैं उतनी ही अलग-अलग विशिष्टताओ युक्त डिग्रियां भी  पनप गई है। आप अपने इंटरेस्ट और बजट के अनुसार कॉर्स या डिग्री प्रोग्राम चुनकर वित्तिय क्षेत्र में जॉब व बिजनेस करके अपनी बेस्ट सर्विस दे सकते हैं। फाइनेंस सेक्टर के प्रमुख लोकप्रिय कॉर्स व डिग्रियाः

  • कॉमर्स की बैचलर्स डिग्री
  • एमबीए इन बिजनेस एंड फाइनेंस मैनेजमेंट
  • एमबीए इन कैपिटल मार्केट
  • मास्टर्स इन बैंकिंग एंड फाइनेंस
  • मास्टर्स इन फाइनेंशियल सर्विसेज
  • पीजीडीएम (फाइनेंशियल इंजीनियरिंग)
  • एमबीए इन रिस्क एंड मनी मैनेजमेंट
  • एमबीए (ऑनर्स)  इन फाइनेंसियल सर्विसेज
  • पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा इन फाइनेंशियल प्लानिंग
  • मास्टर ऑफ फाइनेंस एंड कंट्रोल मैनेजमेंट
  • मास्टर ऑफ बिजनेस इकोनॉमिक्स
  • एमकॉम/एमए इकोनॉमिक्स
  • एमएससी मेथ्स
  • सर्टिफिकेट कॉर्स इन इक्विटी मार्केट
  • सर्टिफिकेट कोर्स इन करेंसी एंड कमोडिटी मार्केट
  • सर्टिफिकेट कोर्स इन बिजनेस मैनेजमेंट
  • सर्टिफिकेट कोर्स इन फाइनेंस मैनेजमेंट
  • सर्टिफिकेट इन फाइनेंशियल इंजीनियरिंग एंड रिस्क मैनेजमेंट

हालांकि, आपको भारी पैकेज और प्रतिष्ठित पदों तक पहुंचने के लिए, कई कठिन परीक्षाओं को पास करना पड़ता है। अगर आप पूरी ईमानदारी से मेहनत करते हैं तो आपके पास मनचाहा पद पाने का पूरा मौका है।

फाइनेंशियल सेक्टर बेहद विस्तृत क्षेत्र हैं जहां अवसरों की गिनती करना मुश्किल है। कमोडिटी मार्केट, कॉरपोरेट फाइनेंस, कमर्शियल बैंकिंग, इंश्योरेंस इत्यादि मिलकर इसे नए ढंग से परिभाषित कर रहे हैं। आप भारत के शीर्ष शहरों से फाइनेंस में करियर बना सकते हैं।

वास्तविकता में, फाइनेंसियल सर्विसेज वित्तीय संस्थानो  द्वारा प्रस्तावित उत्पादों और सेवाओं से मिलकर बनी होती है। यह क्रेडिट कार्ड्स, इन्वेस्टमेंट, लोन, इंश्योरेंस, स्टॉक ब्रोकिंग, मनी मैनेजमेंट से जुड़ा एक विस्तृत क्षेत्र हैं।

विशेषज्ञों के अनुसार काम के बड़े अवसर कैपिटल मार्केट में मौजूद हैं। कैपिटल मार्केट में स्टॉक एक्सचेंज, स्टॉक मार्केट और म्यूच्यूअल फंड शामिल है। यहां आप एडवाइजर व फाइनेंशियल प्लानर बन सकते हैं, कुछ सालों के अनुभव के बाद रिसर्च एनालिस्ट बन सकते हैं, उसके बाद अगली सीडी फंड मैनेजर हो सकती हैं। इसी तरह कॉरपोरेट फाइनेंस, कमोडिटी मार्केट, मनी मैनेजमेंट, कॉमर्शियल बैंक भी अनेकों अवसर उपलब्ध करा रहे हैं।