मेडिकल स्टोर कैसे खोलें | मेडिकल की दुकान कैसे खोलें?

मेडिकल स्टोर एक ऐसा शब्द है जिसे हर इंसान जानता हैं क्योंकि दुनिया के सभी इंसान अपने जीवन में कभी न कभी बीमार होते हैं और अपने स्वास्थ को ठीक करने के लिए दवाई लेने के लिए मेडिकल स्टोर पर जाते हैं, इसलिए मेडिकल की दुकान की आवयश्कता सभी को पड़ती है। यह बिजनेस हमारे स्वास्थ्य से जुड़ा है और अच्छा प्रॉफिटेबल बिजनेस माना जाता है।

Table of Contents

मेडिकल स्टोर कैसे खोलें (Medical Store kaise khole)

हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग धन महोत्सव में। आज के इस लेख में हम जानेगें कि मेडिकल स्टोर कैसे खोलें (Medical Store kaise khole) – मेडिकल स्टोर खोलने के लिए कैसी जगह चाहिए, क्वालिफिकेशन क्या होनी चाहिए, लाइसेंस कैसे मिलेगा, कितना पैसा इन्वेस्ट करना होगा, चलिए इन सभी बातों को जानते हैं।

मेडिकल स्टोर एक ऐसा व्यवसाय है जिसे हर कोई नहीं कर सकता क्योंकि इसके लिए फार्मेसी का कोर्स करना होता है जिसे करने के बाद आप मेडिकल की दुकान खोल सकते हैं।

फार्मेसी के दो कोर्स हैं – पहला D. Pharm, दूसरा B. Pharm

D-Pharma

यह दो वर्ष का कोर्स होता है, इसे करने के पश्चात आपको तीन महीने की ट्रेनिंग करनी होगी जिसके 6 महीने बाद आपको फार्मेसी का लाइसेंस दे दिया जाता है और आप कहीं भी खुद का मेडिकल स्टोर खोल सकते हैं।

B-Pharma

यह चार साल का कोर्स होता है, यह कोर्स अंडर ग्रेजुएट आता है, इसके अलावा आप इसमें M.Pharm (मास्टर ऑफ फार्मेसी) भी कर सकते हैं।

मेडिकल स्टोर के लिए जगह

मेडिकल स्टोर के बिजनेस में सही जगह का चुनना भी महत्वपूर्ण बिंदु हैं क्योंकी जब हमारा मेडीकल स्टोर एक सही स्थान पर खुला होगा तो लोग आसानी से आ सकेंगें और इसके साथ ही अच्छा मेडिकल स्टोर का नाम भी बहुत आवश्यक है।

एक बेहतर जगह वो होगी जहां कोई अस्पताल या डॉक्टर का क्लिनिक हो क्योंकी वहां पर लोगो को मेडिकल स्टोर की बहुत ज्यादा आवश्यकता होती है।

वहां पर लोग खुद ही आपके स्टोर पर आएंगे या फिर आप अस्पताल वालों से टाई-अप कर सकते हैं। जिससे आपको अच्छी कमाई होगी या अपने आस-पास वाले डॉक्टर से संपर्क करके उनके अनुसार दवाई चलाइए और बेचिए इस प्रकार आप अच्छी इनकम कर पाएंगे।

यदि आप गांव में मेडिकल स्टोर खोलना चाहते हैं तो यह भी एक बेहतर विकल्प है क्योंकि आज के समय में बहुत से ऐसे गांव हैं जहां पर मेडिकल स्टोर की जरूरत है लेकिन होते नहीं है इसलिए आप अपने आस-पास के इलाके में ऐसे गांव को तलाश करें जहां पर कोई मेडिकल स्टोर ना हो और वहां पर अपना मेडिकल स्टोर खोलें।

मेडिकल स्टोर खोलने के लिए फार्मेसी की पढ़ाई

मेडिकल स्टोर खोलने के लिए आपको फार्मेसी की पढ़ाई करनी होती है जिसके बाद आप स्टोर खोल सकते हैं। फार्मेसी के कई कोर्स हैं जिन्हें करके आप एमआर की जॉब या खुद का मेडिकल स्टोर खोल सकते हैं।

  • बी-फार्मा – यह चार वर्ष की डिग्री है, अपने आस-पास के किसी भी कॉलेज से कर सकते हैं। इसे करने के पश्चात आप मेडिकल स्टोर, दवाइयों की कंपनी में जॉब, रिसर्चर या खुद की कंपनी (दवाई बनाने की) आदि काम कर सकते हैं।
  • डी-फार्मा – यह दो वर्ष का कोर्स है, अपने आस-पास के किसी भी कॉलेज से कर सकते हैं। इसे करने के पश्चात आप मेडिकल स्टोर खोल सकते है या जॉब कर सकते हैं।
  • एम-फार्मा (मास्टर ऑफ फार्मेसी) – यह दो वर्ष की मास्टर डिग्री है जो कि बी फार्मा के बाद की जाती है।

मेडिकल स्टोर खोलें

दोस्तों, जब आप फार्मेसी की पढ़ाई करके ट्रेनिंग भी पूरी कर चुके तो अब आपको एक उचित स्थान देखकर मेडिकल स्टोर खोलना है। लोगों की स्वास्थ्य से जुड़ी छोटी-मोटी बीमारियों से जुड़ी सभी प्रकार की दवाईयां रख सकते है।

यदि आप किसी गांव में मेडिकल स्टोर खोल रहें हैं तो सिर्फ पचास हजार रूपए तक कि दवाईयां रखकर शुरू कर सकते हैं लेकिन अगर आप शहरी क्षेत्र में मेडिकल की दुकान खोल रहे है तो एक लाख रुपए की कम से कम दवाईयां रखनी होंगी।

मेडिकल स्टोर के लिए लाइसेंस

दोस्तो, जब आपने फार्मेसी में कोई-सा भी कोर्स किया है जैसे बी-फार्मा या डी-फार्मा तो इसे करने के पश्चात आपको लाइसेंस के लिए आवेदन करना होता है। ये लाइसेंस दो प्रकार के होते हैं –

  • हॉलसेल या थोक विक्रेता लाइसेंस (Wholesale Drug License) – इस लाइसेंस के अंतर्गत आप हॉलसेल मेडिकल स्टोर खोल पाएंगे जिससे आप छोटे स्टोर वालों को दवाई सकते है।
  • रिटेल ड्रग लाइसेंस (Retail Drug License) – इस लाइसेंस के अंतर्गत आप मेडिकल स्टोर खोलकर सभी लोगों को फुटकर में दवाइयां बेच सकते है।

मेडिकल स्टोर के प्रकार

  1. स्टैंडअलोन मेडिकल स्टोर
  2. अस्पताल के अंदर मेडिकल स्टोर
  3. टाउनशिप के अंदर मेडिकल स्टोर
  4. फ़्रैंचाइज़ी आउटलेट या चेन फ़ार्मेसी
  5. सरकारी परिसर में मेडिकल स्टोर

बिना लाइसेंस के मेडिकल स्टोर कैसे खोलें?

दोस्तों, अब बात आती है जिन्होंने फार्मेसी की पढ़ाई नहीं कि और वो मेडिकल स्टोर खोलना चाहते हैं तो उनके लिए क्या रास्ता है चलिए आपको बताते हैं। यदि आपने फॉर्मेसी की है तो फिर आपके साथ कोई समस्या नहीं है। आप आसानी से मेडिकल स्टोर खोल सकते हैं।

जिन्होंने कोई पढ़ाई नहीं की है उन्हें किसी दूसरे व्यक्ति के लाइसेंस पर अपना मेडिकल स्टोर खोलना होगा। उस व्यक्ति को वार्षिक या मासिक आपको कुछ रुपए देने होगें और आप उसके नाम पर अपना मेडिकल स्टोर खोल सकते हैं और अच्छी कमाई कर सकते हैं।

लेकिन, आपको दवाइयों का ज्ञान होना चाहिए और आपकी क्वालिफिकेशन भी इतनी होनी चाहिए कि आप इंग्लिश भाषा को आसानी से पढ़ सकें। इस प्रकार आप बिना फार्मेसी की पढ़ाई किए खुद का मेडिकल स्टोर खोल सकते हैं। आज के समय में भारत में बहुत से लोग ऐसा करते हैं।

मेडिकल स्टोर से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न (Medical Store FAQ)

मेडिकल स्टोर चलाने के लिए क्या करना चाहिए?

मेडिकल स्टोर चलाने के लिए आप डी-फार्मा या बी-फार्मा का कोर्स कर सकते हैं। इसके बाद आप भारत के किसी भी क्षेत्र में मेडिकल स्टोर खोलने के योग्य हो जाएंगे या फिर, आप डी-फार्मा डिग्रीधारी के नाम पर मेडिकल स्टोर का लाइसेंस सर्टिफिकेट प्राप्त कर सकते हैं और उसे मैनेज कर सकते हैं।

भारत में मेडिकल स्टोर खोलने के लिए कितना निवेश चाहिए?

एक छोटा मेडिकल स्टोर खोलने के लिए लगभग ₹1,00,000 से ₹3,00,000 की आवश्यकता होती है, जबकि एक बड़ा मेडिकल स्टोर खोलने के लिए ₹5,00,000 व उससे अधिक की आवश्यकता होती है।

मेडिकल स्टोर में कितना प्रॉफिट मार्जिन होता है?

मेडिकल प्रोडक्ट की डिमांड लगभग हर घर में रहती है इसलिए इसमें प्रॉफिट मार्जिन 15% से लेकर 200% तक होता है क्योंकि यह एक उच्च मांग वाला सदाबहार व्यवसाय है।

भारत में मेडिकल स्टोर का मालिक कौन हो सकता है?

भारत का कोई भी नागरिक जिसने भारतीय कानून के अनुसार मेडिकल लाइसेंस प्राप्त किया है, मेडिकल स्टोर का मालिक बन सकता है।

मेडिकल शॉप के लिए कौन सा कोर्स बेस्ट है?

मेडिकल की दुकान के लिए डी-फार्मा सबसे बेस्ट और सस्ता कोर्स माना जाता है। इसके अतिरिक्त आप 4 वर्षीय बी-फार्मा कोर्स करके भी मेडिकल स्टोर शुरू कर सकते हैं।

मेडिकल स्टोर की इनकम कितनी होती है?

मेडिकल स्टोर की इनकम की कोई लिमिट नहीं होती है। यह आपके मेडिकल बिजनेस करने के तरीके और दवाइयों के स्टॉक पर निर्भर करती है। अगर आपका मेडिकल स्टोर एक अच्छे लोकेशन पर है और बहुत बड़ा है तो आपकी इनकम 5 लाख रुपये से 50 लाख रुपये भी हो सकती है और यदि आपका मेडिकल स्टोर एक छोटे लोकेशन पर या गांव में है तो आपकी इनकम 20,000 रुपये से लेकर 5 लाख रुपये तक हो सकती है।

क्या भारत में बिना डिग्री के मेडिकल खोला जा सकता है?

नहीं, भारत में बिना डिग्री के मेडिकल स्टोर नहीं खोला जा सकता। इसके लिए आपको डी-फार्मा या बी-फार्मा का कोर्स करना पड़ेगा और भारतीय कानून के अनुसार मेडिकल लाइसेंस प्राप्त करना होगा।

बीएससी नर्सिंग का छात्र मेडिकल की दुकान खोल सकता है क्या?

बीएससी नर्सिंग का छात्र मेडिकल की दुकान नहीं खोल सकता है लेकिन वह एक क्लीनिक खोल सकता है या फिर किसी प्राइवेट या सरकारी हॉस्पिटल में जॉब कर सकता है।

Medical का लाइसेंस कैसे बनता है?

  • फार्मेसी लाइसेंस
  • बिजनेस रजिस्ट्रेशन
  • कंपनी रजिस्ट्रेशन
  • टैक्स रजिस्ट्रेशन (GST)
  • ड्रग लाइसेंस रजिस्ट्रेशन
    • थोक ड्रग लाइसेंस
    • रिटेल ड्रग लाइसेंस

डी फार्मा करने से क्या फायदा होता है?

डी फार्मा करके आप मेडिकल स्टोर खोल सकते है, अन्य मेडिकल डिग्री कोर्स कर सकते हैं, बी फार्मा में सीधे सेकंड ईयर में एडमिशन प्राप्त कर सकते है एवं गवर्नमेंट जॉब की तैयारी कर सकते हैं।