मेडिकल लाइन कोर्स लिस्ट | Medical Course List in Hindi

क्या आप ही मेडिकल फील्ड में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आइए जानते हैं मेडिकल लाइन में कोर्स लिस्ट व मेडिकल लाइन में कौन-कौन से कोर्स होते हैं? मेडिकल लाइन में कितने प्रकार के कोर्स हैं जिन्हें करके आप एक अच्छी जॉब या खुद का क्लिनिक,हॉस्पिटल या मेडिकल स्टोर जैसा काम कर सकते हैं।

Table of Contents

Medical Course full form Hindi and English

MBBSBachelor of Medicine and Bachelor of Surgeryबैचलर ऑफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी
MDDocter of Medicineडॉक्टर ऑफ मेडिसिन
MSMaster of Surgeryमास्टर ऑफ सर्जरी
BAMSBachelor of Ayurvedic and Medicine of Surgeryबैचलर ऑफ आयुर्वेदिक एंड मेडिसिन ऑफ साइंस
BDSBachelor of Dental Surgeryबैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी
B. PharmaBachelor of Pharmacyबैचलर ऑफ फार्मेसी
BPTBachelor of Physiotherapyबैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी
BSMSBachelor of Siddha Medicine and Surgeryबैचलर ऑफ सिद्धा मेडिसिन एंड सर्जरी
B.Sc NursingBachelor of Nursingबैचलर ऑफ नर्सिंग
BHMSBachelor of Homeopathic Medicine and Surgeryबैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी
BNYSBachelor of Naturopathy and Yogic Scienceबैचलर ऑफ नेचुरोपैथी एंड योगिक साइंस
BUMSBachelor of Unani Medicine and Surgeryबैचलर ऑफ यूनानी मेडिसिन एंड सर्जरी
BMLTBachelor of Medical Laboratory Technologyबैचलर ऑफ मेडिकल लेबोरेट्री टेक्नोलॉजी
B.VScBachelor of veterinary Scienceबैचलर ऑफ वेटेरिनरी साइंस
BOTBachelor of Occupational Therapyबैचलर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी)

मेडिकल लाइन कोर्स लिस्ट (Medical Course List in Hindi)

मेडिकल क्षेत्र में पढ़ाई करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण है कि आप ने कक्षा 12 विषय जीव विज्ञान (Biology) से उत्तीर्ण की हो। मेडिकल क्षेत्र में अनेकों ऐसे कोर्स हैं जिन्हें करके आप सफल बन सकतें हैं तो चलिए जानते हैं इन कोर्स के बारे में –

MBBS – बैचलर ऑफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी

यह मेडिकल क्षेत्र में सबसे लोकप्रिय डिग्री है इसे करने के पश्चात डॉक्टर बनते हैं। MBBS की समय अवधि 5 वर्ष 6 महीने है इस कोर्स को आप सरकारी या प्राइवेट कॉलेज के माध्यम से कर सकते हैं। सरकारी कॉलेज से करने के लिए आपको NEET का एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करना होगा जिसमें रैंकिंग के हिसाब से कॉलेज एलॉट किए जाते हैं। यह एग्जाम पूरे भारतवर्ष में बहुत अधिक लोकप्रिय है प्रत्येक वर्ष यह एग्जाम कराया जाता है, करोड़ों छात्र इस एग्जाम की तैयारी करते हैं जिसमें से सिर्फ 92 हजार लोगों को ही सरकारी कॉलेज में दाखिला मिल पाता है, 2023 में ये सीटें 1 लाख से अधिक हो जाएंगी।

MD – डॉक्टर ऑफ मेडिसिन

MD अर्थात् डाक्टर ऑफ मेडिसिन, एमबीबीएस कोर्स को पूरा करने के पश्चात किया जाता है। यह एक पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री है इसकी समय अवधि 3 वर्ष है। मेडिसिन के क्षेत्र में यह आगे की पढ़ाई है। इसे करके मेडिसिन के क्षेत्र में आगे बढ़ते हैं जिससे की मेडिसिन के फील्ड में स्पेशलिस्ट बन सकें।

MS – मास्टर ऑफ सर्जरी

यह भी पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री है इसे भी एमबीबीएस के पश्चात किया जाता है इसकी समय अवधि भी 3 वर्ष है। एमबीबीएस करने के बाद आपको दोनो में से एक चुनना होता है MD या MS। यदि आप मेडिसिन चुनते हैं तो आप मेडिसिन के डॉक्टर बनेगें अर्थात् आप सिर्फ दवाई देगें सर्जरी नहीं करेगें, यदि आप MS करते हैं तो इसमें आपको सर्जरी भी सिखाई जाती है।

BAMS – बैचलर ऑफ आयुर्वेदिक एंड मेडिसिन ऑफ साइंस

इस कोर्स में आयुर्वेद के बारे में सम्पूर्ण ज्ञान दिया जाता है इस कोर्स की समय अवधि 5 वर्ष 6 महीने है। इसे आप सरकारी या गवर्नमेंट कॉलेज से कर सकते हैं गवर्नमेंट कॉलेज के लिए नीट का एग्जाम क्लियर करना होगा। यह एक अंडरग्रैजुएट डिग्री है इसे करने के पश्चात एक साल की इंटरशिप भी करनी होती है। इस कोर्स को यदि आप प्राइवेट कॉलेज से करते हैं तो इसकी सालाना फीस 50 हजार से 5 लाख तक हो सकती है।

BDS – बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी

यदि आप दांतों के डाक्टर बनना चाहते हैं तो आपको BDS अर्थात् बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी की डिग्री हासिल करनी होगी इसके पश्चात एक साल की इंटर्नशिप (प्रैक्टिस) भी की जाती है। इस कोर्स की समय अवधि 5 वर्ष 6 है। इस कोर्स को आप सरकारी या प्राइवेट कॉलेज दोनों में से किसी के भी माध्यम से कर सकते हैं। सरकारी कॉलेज में दाखिला लेने के लिए नीट का एग्जाम देना होगा तथा प्राइवेट कॉलेज में डायरेक्ट एडमिशन मिल जाएगा लेकिन प्राइवेट कॉलेज की फीस अधिक होती है 25 से 50 लाख रुपए तक सालाना फीस होती है।

B. Pharma – बैचलर ऑफ फार्मेसी

यदि आप फार्मेसी के क्षेत्र में जाना चाहते हैं तो बैचलर ऑफ फार्मेसी कर सकते हैं यह चार वर्ष की डिग्री है जिसे आप सरकारी या प्राइवेट कॉलेज से कर सकते हैं। इस कोर्स की सालाना फीस 50 हजार से डेढ़ लाख रुपए तक होती है।

D. Pharma – डिप्लोमा ऑफ फार्मेसी

यह फार्मेसी फील्ड में 2 साल का डिप्लोमा है। इस डिप्लोमा को साइंस स्ट्रीम वाले स्टूडेंट सरकारी या प्राइवेट कॉलेज से कर सकते हैं। सरकारी कॉलेज के लिए Jeecup द्वारा एंट्रेंस एग्जाम कराया जाता है। इसको पास करने के पश्चात गवर्मेंट कॉलेज में दाखिला मिल जाता है। प्राइवेट कॉलेज में इसकी वार्षिक फीस 50 हजार से 2 लाख रुपए तक होती है।

M. Pharma – मास्टर ऑफ फार्मेसी

यह दो वर्ष की पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री है इसे बी फार्मा के बाद करा जाता है। इसकी वार्षिक फीस 50 हजार से 1 लाख रुपए तक होती है। इसे भी आप सरकारी या प्राइवेट कॉलेज से कर सकते हैं और मेडिकल क्षेत्र में अच्छी जॉब प्राप्त कर सकते हैं।

BPT – बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी

यह चार वर्ष का अंडरग्रैजुएट कोर्स है। इसे करने के बाद आप फिजियोथेरपिस्ट बन जाते हैं, इस कोर्स को आप किसी भी सरकारी या प्राइवेट कॉलेज से कर सकते हैं। सरकारी कॉलेज के लिए एंट्रेंस एग्जाम देना आवश्यक है जिसमें रैंक के अनुसार गवर्मेंट कॉलेज एलॉट किया जाता है तथा इस कोर्स को आप प्राइवेट कॉलेज से भी कर सकते हैं जिसमें इसकी वार्षिक फीस 1 लाख से 6 लाख रुपए तक होती है।

BSMS – बैचलर ऑफ सिद्धा एंड मेडिसिन ऑफ सर्जरी

यह 5 वर्ष 6 महीने की अंडरग्रैजुएट डिग्री है जिसे आप सरकारी या प्राइवेट कॉलेज के द्वारा कर सकते हैं। इसमें आपको Ayurveda, Yoga-Naturopathy, Unani, Siddha, and Homeopathy के बारे में पढ़ाया जाता है। यदि आप इसे सरकारी कॉलेज से करना चाहते हैं तो नीट के एग्जाम में अच्छे नम्बर लाकर आप गवर्मेंट कॉलेज में दाखिला ले सकते हैं। गवर्मेंट कॉलेज में इसकी वार्षिक फीस मात्र 25-30 हजार रूपए होती है लेकिन प्राइवेट कॉलेज में 1 लाख से 5 लाख रुपए तक होती है।

B.sc Nursing – बैचलर ऑफ नर्सिंग

बीएससी नर्सिंग काफी लोकप्रिय कोर्स है यह चार वर्ष की अवधि का कोर्स है। इसे आप सरकारी या प्राइवेट कॉलेज से कर सकते हैं सरकारी कॉलेज के लिए सभी स्टेट में अलग अलग एंट्रेंस एग्जाम होते हैं तथा प्राइवेट कॉलेज में डायरेक्ट दाखिला मिल जाता है। जिसकी सालाना फीस 50 हजार से 2 लाख रुपए तक होती है।

BHMS – बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी

यह 5.5 वर्ष का अंडरग्रैजुएट कोर्स है इसमें होम्योपैथी मेडिसिन के बारे में पढ़ाया जाता है। नीट एग्जाम के थ्रू आप इसे गवर्मनेट कॉलेज से कर सकते हैं अन्यथा प्राइवेट कॉलेज से भी कर सकते हैं इसकी वार्षिक फीस 2 लाख से 5 लाख रुपए तक होती है।

BNYS – बैचलर ऑफ नैचुरोपैथी एंड योगिक साइंस

यह भी एक अंडरग्रैजुएट डिग्री है जिसकी समय अवधि 5.5 वर्ष है। इसे आप सरकारी या प्राइवेट कॉलेज दोनों में से किसी एक से कर सकते हैं, इसकी वार्षिक फीस लगभग 2 लाख रुपए तक होती है।

BUMS – बैचलर ऑफ यूनानी मेडिसिन एंड सर्जरी

यह 5.5 साल का अंडरग्रैजुएट कोर्स है जिसमें से 4.5 साल पढाई तथा एक साल की इंटर्नशिप करनी होती है। सरकारी या प्राइवेट कॉलेज दोनों में से किसी एक से कर सकते हैं। प्राइवेट कॉलेज में इसकी वार्षिक फीस 5 लाख से 15 लाख रुपए तक होती है। यदि आप गवर्मेंट कॉलेज से करना चाहते हैं तो आप को नीट का एंट्रेंस एग्जाम क्वालीफाई करना होगा।

BMLT – बैचलर ऑफ मेडिकल लेबोरेट्री टेक्नोलॉजी

यह तीन वर्ष का अंडरग्रैजुएट कोर्स है इसमें लैब में इस्तेमाल होने वाले इक्विपमेंट के बारे में सिखाया जाता है तथा डायग्नोस की भी ट्रेनिंग दी जाती है। इसे सरकारी या प्राइवेट कॉलेज दोनों में से किसी एक से कर सकते हैं। इस कोर्स की सालाना फीस 25 हजार से 2 लाख रुपए तक होती है।

B.Vsc – बैचलर ऑफ वेटेरिनरी साइंस

यह एक अंडरग्रैजुएट डिग्री कोर्स है इसकी समय अवधि 5.5 वर्ष है। इस कोर्स में जानवरों की बीमारी के बारे में पढ़ाया जाता है इसे करने के पश्चात वेट डॉक्टर कहलाते हैं। इसे आप सरकारी या प्राइवेट कॉलेज दोनों में से किसी एक से कर सकते हैं। सरकारी कॉलेज से करने के लिए नीट का एंट्रेंस एग्जाम देना होगा तथा प्राइवेट कॉलेज में डायरेक्ट दाखिला मिल जाता है जिसकी वार्षिक फीस लगभग 10 हजार से दो लाख रुपए तक होती।

BOT – बैचलर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी

यह चार साल का कोर्स है जिसमें इमोशनली, मेंटली तथा फिजिकली चैलेंज्ड लोगों को किस तरह ठीक करना सिखाया जाता है। इस कोर्स की सालाना फीस 15 हजार से 80 हजार रूपए तक होती है तथा इसे करने के बाद एवरेज सैलरी 3 लाख से 6 लाख रुपए तक होती है।

मेडिकल लाइन में डिप्लोमा कोर्स की लिस्ट

डिप्लोमा कोर्ससमय अवधि
DMNA – Diploma in Medical Nursing Assistant1 वर्ष
DMRT – Diploma in Radiology Therapy2 वर्ष
DEMT – Diploma in Emergency Medical Technician2.5 वर्ष
DGDA – Directorate General of Drug Administration1 वर्ष
DOPT – Diploma in Optometry Technology2 वर्ष
DOA – Diploma in Ophthalmic Assistant1 वर्ष
DSI – Diploma in Sanitary Inspector2 वर्ष
DRIT – Diploma in Radiology and Imaging Technology2 वर्ष
DBBT – Diploma in Blood Bank Technician2 वर्ष

अपने इंटरेस्ट और सुविधा के अनुसार ऊपर बताए गए मेडिकल कोर्स लिस्ट में से किसी को भी चुन सकते हैं और अपना करियर बना सकते हैं। हर एक कोर्स की अपनी अलग विशेषता और मार्केट डिमांड है इसीलिए आप अपने इंटरेस्ट और भविष्य के गोल के आधार पर अपने लिए बेस्ट मेडिकल कोर्स चुन सकते हैं।