लेबर कार्ड का पैसा कब तक आएगा?

हेलो दोस्तों, स्वागत है आपका धन महोत्सव में। आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगें कि लेबर कार्ड का पैसा कब तक आएगा (labour card ka Paisa kab tak aayega) और कितना पैसा आएगा, लेबर कार्ड के महत्वपूर्ण प्रश्न और क्या श्रमिक कार्ड हमें बनवाना चाहिए? (kya Hamen Shramik card banvana chahie) आदि।

जिनका लेबर कार्ड (Labor Card), श्रमिक कार्ड (Shramik Card) या मजदूर कार्ड (Mazdoor Card) अभी तक नहीं बना तो आज हम बताएंगें कि आप कैसे अपना मजदूर कार्ड बना सकते है जिससे कि इससे मिलने वाले लाभ से आप वंचित ना रहें, तो बने रहिए हमारे इस जबरदस्त लेख के साथ।

जो लोग मजदूर हैं एवं अपना श्रमिक कार्ड किसी सीएससी केंद्र से बनवा चुके हैं और उन्हें यह कार्ड प्राप्त हो चुका है तो वे लोग मजदूर कार्ड के लाभ के पात्र हैं अर्थात उन्हें मजदूर कार्ड पर भारत सरकार द्वारा दी जाने वाली विभिन्न सुविधाओं का लाभ मिलेगा।

जब आप इस कार्ड (Shramik Card) को बनवायेगें तो आपकी समस्त जानकारी सरकार के पास होंगी और श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा निश्चित राशि आपके खाते में भेजी जाएगी। अगर आप एक मजदूर है तो आज ही आपको अपना मजदूर कार्ड (Mazdoor Card) या श्रमिक कार्ड बनवाना चाहिए।

लेबर कार्ड का पैसा (पेमेंट स्टेटस) कैसे चेक करें? 

लेबर कार्ड का पैसा चेक करने के लिए आपको हम कुछ तरीके बताएंगें जिससे आप अपनी क़िस्त (इन्सटॉलमेंट) के बारे में जान सकते हैं कि आपके बैंक खाते में वह किस्त आ चुकी है या नहीं – तो चलिए जानते हैं –

लेबर कार्ड / मजदूर कार्ड का पैसा सीधा आपके बैंक खाते में डाला जाता है। अभी तक सरकार द्वारा कोई ऐसा पोर्टल नहीं बनाया गया है जिससे आप पेमेंट स्टेटस चेक कर सकें, या अपनी किसी भी इन्सटॉलमेंट के बारे में जान सकें।

आपको इस पैसे की जानकारी हासिल करने के लिए आपको बैंक (जिस बैंक में आपका खाता है) जाना होगा और वहाँ जाकर बैलेंस चेक करना होगा। आप बैंक जाकर पूछ सकते है कि आपकी लेबर कार्ड की इन्सटॉलमेंट आयी है या नहीं।

या फिर, आप घर बैठे भी चेक कर सकते हैं, प्रत्येक बैंक का एक टोल फ्री नंबर होता है जिससे आपके खाते के बैलेंस की जानकारी मिल जाती है। आपको उस नंबर को डायल करना है और आपको आपके शेष बैलेंस की जानकारी दे दी जाएगी।

इसके अलावा, आपका मोबाइल नंबर बैंक खाते से लिंक होना चाहिए। आप UPI जैसे PhonePe, GooglePay, Paytm आदि के माध्यम से या यहां तक कि बैंक के ऐप से भी अपने मजदूर कार्ड की किस्त की जांच कर सकते हैं।

लेबर कार्ड से मिलने वाले लाभ (Labour Card ke fayde)

यदि आपका लेबर कार्ड बना हुआ है तो आपको सरकार द्वारा कई प्रकार के लाभ दिए जाएंगें तो चलिए आपको बताते हैं लेबर कार्ड द्वारा मिलने वाले लाभों के बारे में या श्रमिक कार्ड के फायदेः

नोटः– यहां बताई गई राशि और लेबर कार्ड के फायदे एक राज्य से दूसरे राज्य में अलग-अलग या भिन्न हो सकते हैं, इसीलिए कृपया मजदूर कार्ड का फायदा लेने से पहले इनके विभिन्न लाभ के बारे में आपके राज्य के सरकारी पोर्टल पर जाकर के चेक करें।

जब लेबर कार्ड धारकों की एक वर्ष की सदस्यता पूरी हो जाती है तो उनके बेटे व बेटियों की उच्च शिक्षा के लिए पाँच हजार से बीस हजार रुपए तक की वित्तीय सहायता दी जाती है।

जब तीन वर्ष की सदस्यता पूरी हो जाती है तो महिलाओं को उनकी बेटी की शादी के लिए पचास हजार रुपए की आर्थिक सहायता दी जाती है।

यदि कोई महिला गर्भवती है तो उसे न्यूनतम मज़दूरी के अनुसार 90 दिनों के बराबर धनराशि (मज़दूरी) दी जाती है, आर्थिक सहायता के लिए यह लाभ प्रदान किया जाता है।

जब कार्ड धारकों की एक वर्ष की सदस्यता पूरी हो जाती है और उनके बेटे या बेटियों में से कोई 10वी कक्षा में या 12वी कक्षा में 80% नंबर लाता है तो उसे 25000 रुपए का इनाम दिया जाता है, यदि 70-80% के बीच नंबर प्राप्त करता है तो उसे 15000 रुपए का इनाम दिया जाता है, यदि 60-70% नंबर प्राप्त करता है तो उसे 10000 रुपए का इनाम दिया जाता है।

तीन वर्ष की सदस्यता पूरी होने पर वर्कर्स को औजार खरीदने के लिए 15000 रुपए की वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है जिससे कि मजदूर अपने काम के लिए औजार खरीद सकें, यह लाभ सिर्फ एक बार प्रदान किया जाता है।

वार्षिक चिकित्सा के लिए सभी कार्ड धारकों को प्रतिवर्ष 3000-5000 रुपए उनके बैंक खाते में जमा किए जाते है।

जब कार्ड धारक की सदस्यता के तीन वर्ष पूरे हो जाते हैं और उसे साइकिल या औजार खरीदने की योजना का लाभ नहीं मिलता है, तो उसे घर की मरम्मत कराने के लिए 20,000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

कार्ड धारक की पाँच वर्ष की सदस्यता पूरी होने पर 60 वर्ष की उम्र के पश्चात 1000 रुपए प्रतिमाह की पेंशन दी जाती है।

यदि कार्डधारक विकलांग है तो उसे 1000 से 75000 रुपए की एक आउटराइट धनराशि प्रदान की जाती है।

अंतिम संस्कार के लिए 5000 रुपए की राशि प्रदान की जाती है।

यदी कार्डधारक की मृत्यु हो जाती है प्राकृतिक मौत होने पर 2 लाख तथा एक्सीडेंट से मौत होने पर 4 लाख की राशि प्रदान की जाती है। 

लेबर कार्ड कैसे बनवाएं? (मजदूर कार्ड कैसे बनाएं)

लेबर कार्ड बनवाने के लिए योग्यता – सबसे पहले बात करते हैं कि इसके लिए आप पात्र है या नहीं।

  • आप भारत के मूल निवासी होने चाहिए।
  • आपकी आयु न्यूनतम 18 वर्ष होनी चाहिए तथा अधिकतम 60 वर्ष होनी चाहिए।
  • आप दिहाड़ी मजदूर होने चाहिए जिसमें पेंटर, रिक्शावाला, मनरेगा और सभी प्रकार के मजदूर शामिल है।

अब आपको कुछ दस्तावेजों की आवश्यकता होगी जो कि निम्नलिखित हैं

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • पहचान पत्र (Voter ID Card)
  • राशन कार्ड
  • बैंक की पास बुक
  • आय प्रमाण पत्र
  • भरा हुआ फॉर्म
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो

इन सभी दस्तावेज के साथ लेबर कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

लेबर कार्ड के महत्वपूर्ण प्रश्न (Labour Card FAQ)

  1. लेबर कार्ड (श्रमिक कार्ड) क्या है?

    लेबर कार्ड एक ऐसी योजना है जिसके तहत मनरेगा में काम करने वाले मजदूरों या असंगठित क्षेत्र के दिहाड़ी मजदूरों को सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। अगर आप भी मजदूरी करते हैं तो आप भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

  2. लेबर कार्ड (श्रमिक कार्ड) क्या काम आता है?

    लेबर कार्ड के माध्यम से सरकार मजदूरों को कई योजनाओं का लाभ प्रदान करती हैं और उन्हें हर प्रकार से आर्थिक सहायता प्रदान करने की कोशिश करती है।

  3. लेबर कार्ड (श्रमिक कार्ड) कौन बनवा सकता है?

    भारत का प्रत्येक व्यक्ति जो दैनिक मजदूरी (दिहाड़ी मजदूरी) करके अपनी आजीविका चला रहा है, श्रमिक कार्ड प्राप्त करने के लिए पात्र है।

  4. लेबर कार्ड (श्रमिक कार्ड) बनवाने के लिए कौन-कौन से दस्तावेज चाहिए?

    श्रमिक कार्ड बनवाने के लिए आधार कार्ड, पहचान पत्र, राशन कार्ड, बैंक पासबुक, आय प्रमाण पत्र, पासपोर्ट साइज फोटो आदि दस्तावेजों की जरूरत होती है।

  5. लेबर कार्ड (श्रमिक कार्ड) से संबंधित सरकारी सहायता की लिस्ट

    मृत्यु उपरांत लाभ, दुर्घटना जीवन बीमा, दुर्घटना सहायता, मातृत्व लाभ, लाभार्थी की बेटी के विवाह के लिए राशि, सब्सिडी वाली बिजली, शिक्षा सहायता, घर के निर्माण के लिए ऋण राशि, कार्य उपकरण की खरीद के लिए सहायता, लाभार्थी को पेंशन, कौशल उन्नयन के लिए वित्तीय सहायता।

  6. लेबर कार्ड के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करवाएं?

    मजदूर कार्ड, लेबर कार्ड या श्रमिक कार्ड एक केंद्र सरकार की योजना है जो श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के तहत भारत के सभी श्रमिकों व मजदूरों को आर्थिक सहायता देने के लिए लांच की गई है। इसके रजिस्ट्रेशन के लिए अलग-अलग राज्यों के लिए अलग-अलग रजिस्ट्रेशन पोर्टल हैं। आप जिस राज्य के निवासी हैं, वहां के रजिस्ट्रेशन पोर्टल की जानकारी प्राप्त कर अपने श्रमिक कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं।

  7. क्या लेबर कार्ड (श्रमिक कार्ड) के लिए रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है?

    श्रमिक कार्ड योजना का लाभ प्राप्त करने हेतु सभी श्रमिकों को श्रमिक कार्ड में पंजीयन कराना अनिवार्य है। यह रजिस्ट्रेशन आप आधार कार्ड से ऑनलाइन या ऑफलाइन कर सकते हैं।

  8. क्या लेबर कार्ड (श्रमिक कार्ड) से लोन मिल सकता है?

    हां, जिन श्रमिकों ने अपना लेबर कार्ड बनवा रखा है वे लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं, उन्हें अपनी भुगतान करने की कैपेसिटी के अनुसार या सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत लोन प्रदान किया जाएगा।