फॉरेंसिक साइंस क्या है, फॉरेंसिक साइंस एक्सपर्ट्स के काम

फॉरेंसिक साइंस डिपार्टमेंट में समाज में होने वाले अपराधों को तथ्यों के आधार पर सुलझाने की कोशिश की जाती है। इसमें विशेषज्ञ अपनी एक्सपर्टीज के अनुसार अलग-अलग तथ्यों पर काम करते हैं और ठोस एवं आधिकारिक तथ्यों को सबूत के रूप में अदालत में पेश करते हैं।

पैसों के लिहाज से आप इस सेक्टर को कमाई का बेहतरीन मौका मान सकते हैं। बस आपको शुरुआत में समझदारी से मेहनत करनी पड़ेगी और आप अपने अनुभव के आधार पर अलग-अलग संगठनों से कितना भी पैसा वसूल सकते हैं।

इसमें पैसा कमाने की कोई सीमा नहीं है, इसलिए फॉरेंसिक साइंस सेक्टर को आर्थिक रूप से सक्षम व व्यवहार्य सेक्टर माना जाता है। आप अपने अनुभव, योग्यता के आधार पर देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी अपनी बेस्ट सर्विस दे सकते हैं।

फॉरेंसिक साइंस क्या है? (Forensic science kya hai)

फॉरेंसिक साइंस के अध्याय में कहीं शाखाएं शामिल है जो आपराधिक मामलों से जुड़ी खोजबीन की प्रक्रिया में सहायता के लिए विज्ञान की विस्तृत श्रेणी के इस्तेमाल से संबंधित होती हैं। यह विज्ञान का एक अंतःविषय क्षेत्र है, जिसमें सभी विज्ञान विषय अर्थात रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, भौतिकी और गणित शामिल होती हैं।

फॉरेंसिक विशेषज्ञ अपराध और अपराधी के बीच की कड़ी को स्थापित या खंडित करने के लिए ठोस सबूत इकट्ठा करके अपराध के दृश्य में पाए गए भौतिक सबूतों की जांच करते हैं। वे-

  • अपराधों में मिले सबूतों की जांच-पड़ताल करते हैं।
  • हत्या से पहले संघर्ष के निशानों की पड़ताल करते हैं।
  • अपराध कैसे हुआ इसका पता लगाने के लिए डमी के साथ प्रयोग करते हैं।  
  • गोली की दिशा का पता लगाने के लिए गोली के घावों का मुआयना करते हैं।
  • अहम संकेतों को एकत्र करने के लिए अपराध का दृश्य पूरी सावधानी के साथ तैयार करते हैं।

फॉरेंसिक साइंस एक्सपर्ट्स के काम

फॉरेंसिक विज्ञान में अलग-अलग विषय होते हैं जिनमें एक्सपर्टीज हासिल करके अलग-अलग क्षेत्रों में काम किया जा सकता है। इनमें कुछ प्रमुख विशेषज्ञता वाले क्षेत्रों के बारे में हम नीचे डिस्कशन कर रहे हैं।

  1. फॉरेंसिक चिकित्सा विशेषज्ञ – अपराध के शिकार व्यक्ति और आरोपी की जांच करते हैं और उचित मेडिकल साक्ष्य प्रदान करते है।
  2. फॉरेंसिक मेडिकल निरीक्षक – जीवित व्यक्ति पर काम करते हैं और अपराधों की पुष्टि करते हैं।
  3. फॉरेंसिक पैथोलॉजिस्ट – मृत व्यक्ति पर काम करते है। मृत्यु का कारण, तरीका और समय निर्धारित करने के लिए शव का परीक्षण करते हैं।
  4. फॉरेंसिक डेंटोलॉजिस्ट – एक प्रशिक्षित दंत  चिकित्सक होता है जो दातों के अवशेषों, काटने के निशान आदि की जांच करते है।
  5. फॉरेंसिक एंथ्रोपोलॉजी – शिकार व्यक्ति की पहचान से जुड़े तथ्यों जैसे कि लिंग, उम्र, स्वास्थ्य स्तर, पैतृक पृष्ठभूमि और मृत्यु के कारण की जांच करते हैं।
  6. फॉरेंसिक एंथ्रोपोलॉजिस्ट – चेहरे की पुनर्रचना करना और पहचाने न जा सकने वाले मानव अवशेषों के पीछे का इतिहास बताते हैं।
  7. फॉरेंसिक सीरोलॉजिस्ट – अपराध के बाद की जांच के लिए रक्त, ब्लड ग्रुप तथा अन्य शारीरिक द्रव्यों का अध्ययन करते हैं।
  8. फॉरेंसिक केमिस्ट – अवैध दवाओं के उपयोग, आगजनी के मामलों में इस्तेमाल किए गए ज्वलनशील पदार्थों, विस्फोटक तथा चलाई गई गोली के अवशेषों और  सूक्ष्म साक्ष्यों का अध्ययन करते हैं।
  9. क्रिमिनोलॉजिस्ट्स – फॉरेंसिक वैज्ञानिक और खोजी पुलिस क्रिमिनोलॉजिस्ट्स के साथ मिलकर काम करते हैं।
  10. फॉरेंसिक मनोवैज्ञानिक – मनोवैज्ञानिक आधार पर अपराध के मनोवैज्ञानिक तथ्यों की जांच करते हैं।
  11. फॉरेंसिक लिंग्विस्ट – लिखित या मौखिक संवाद की विषय वस्तु का अध्ययन करते हैं।
  12. फॉरेंसिक आर्टिस्ट – चश्मदीद गवाह के ब्यौरे के आधार पर एक व्यक्ति की आकृति का चित्रण करते है।
  13. फॉरेंसिक मेडिसिन और पैथोलॉजी – इसमें चिकित्सकीय जानकारी का इस्तेमाल कानूनी समस्याओं को सुलझाने के लिए किया जाता हैं। 

इनके अलावा भी और कई फॉरेंसिक साइंटिस्ट के काम होते हैं जिनका वास्तविकता में हमें भी पता नहीं है। जैसे-जैसे आप इसकी डीप स्टडी करेंगे, आपको इसके विभिन्न क्षेत्र और कामों के बारे में पता चलता रहेगा। हम आशा करते हैं कि आप एक सक्सेसफुल फॉरेंसिक एक्सपर्ट या फॉरेंसिक साइंटिस्ट बनने में सफल होंगे।

इस क्षेत्र में पैसे बहुत है लेकिन शुरुआत में आपको बहुत हार्ड-वर्क करना पड़ेगा और विभिन्न कठिनाइयों का सामना करते हुए आगे बढ़ना पड़ेगा। जैसे-जैसे आगे बढ़ेंगे, वैसे-वैसे आपके सामने कई डिफिकल्टीज आएंगी लेकिन आपको अपने नॉलेज के आधार पर उन्हें ओवरराइड करना पड़ेगा। फॉरेंसिक साइंस के अतिरिक्त एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में भी करिअर बनाया जा सकता है।

आप अनुभव प्राप्त करके फॉरेंसिक साइंस डिपार्टमेंट में सरकारी नौकरी कर सकते हैं या अपना खुद का बिजनेस शुरू कर सकते हैं और गवर्मेंट बॉडी के साथ मिलकर विभिन्न आपराधिक तथ्यों को सुलझाते हुए इस देश की न्यायिक प्रक्रिया में भागीदार बन सकते हैं।