Gift Letter क्या है और आप इसका इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं?

अगर आप फाइनेंसियल गिफ्ट लेटर यानी वित्तिय उपहार पत्र प्राप्त करने या किसी को देने की सोच रहे हैं तो आपको इनके बारे में जानकारी होनी चाहिए कि Gift Letter क्या है, उपहार पत्र क्या होता है और गिफ्ट लेटर का उपयोग कैसे कर सकते है।

एक उपहार पत्र एक महत्वपूर्ण, औपचारिक और कानूनी दस्तावेज है जो बताता है कि एक विशेष राशि आपको उपहार में दी गई है या आपने अपनी मर्जी से किसी को उपहार में दी है जो किसी गिफ्ट को कानूनी मान्यता प्रदान करता है। आप फॉरेक्स कार्ड के बारे में भी जान सकते है।

उपहार देना भारतीय परंपरा में सामान्य बात है। आप आपके सगे-संबंधियों को डायरेक्ट परंपरागत उपहार ना देकर, आप उन्हें कानूनी लेटर के रूप में गिफ्ट दे सकते हैं जिसे उपहार पत्र या गिफ्ट लेटर कहा जाता है, जो आजकल अप्पर और मिडल क्लास में बहुत लोकप्रिय है।

Gift Letter क्या है या उपहार पत्र क्या होता है?

एक उपहार पत्र (Gift Letter) एक औपचारिक दस्तावेज है जो यह साबित करता है कि आपको प्राप्त धन एक उपहार है, ऋण नहीं है और प्राप्तकर्ता इसे कानूनी रूप से बेच सकता है, इस पर ऋण ले सकता है, इसे बैंक में गिरवी रख सकता है व इसे नकद में भुना सकता है और उस पैसे का उपयोग कर सकता है।

इसकी एक लीगल प्रोसेस होती है जिसे गिफ्ट डीड कहा जाता है, जिसमें देने वाले को डोनर और लेने वाले को रिसिपिएंट कहा जाता है। गिफ्ट डीड में डोनर और रिसिपिएंट के हस्ताक्षर होते हैं और जिस अवसर या समय पर दिया जाता है उसको भी पॉईंट आउट किया जाता है।

गिफ्ट लेटर किसी भी उद्देश्य के लिए किसी भी प्रकार के गिफ्ट को कवर कर सकते हैं। संपत्ति खरीदने के लिए बंधक (mortgage) के लिए आवेदन करने के दौरान सबसे अधिक इनका उपयोग किया जाता है। गिफ्ट लेटर का उपयोग भारतीय बैंकों में आप लोन लेने के लिए भी कर सकते हैं।

यदि आप संपत्ति खरीद रहे हैं और एक मौद्रिक उपहार प्राप्त किया है जिसे आप एक बंधक डाउन पेमेंट या समापन लागत के लिए उपयोग करने की योजना बना रहे हैं, तो आपको यह साबित करने के लिए एक गिफ्ट डीड या उपहार पत्र प्रदान करना होगा कि यह ऋण नहीं, बल्कि एक उपहार है।

उपहार पत्र का उपयोग कैसे करें?

गिफ्ट लेटर को बनाने के लिए एक मानक प्रारूप यानी स्टैंडर्ड फॉरमैट का पालन करना होता है लेकिन कुछ मोरगेज ऋणदाता एक रेडीमेड टेंपलेट का यूज करना पसंद करते है।

सामान्य तौर पर, उपहार देने वाले व्यक्ति को उपहार पत्र लिखना और हस्ताक्षर करने पड़ते है। क्योंकि, उपहार पत्र बंधक हामीदारी प्रक्रिया का एक सामान्य हिस्सा हैं, बंधक उधारदाताओं के पास एक रेडीमेड टेम्पलेट उपलब्ध होता है या आप इसे ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं।

एक उपहार पत्र में निम्नलिखित जानकारियां शामिल होनी चाहिए:

  • उपहार की सटीक ₹ राशि।
  • दाता (donor) का नाम, पता और फोन नंबर।
  • ऋण आवेदक या प्राप्त करने वाले के साथ दाता का संबंध।
  • किस तारीख को फंड ट्रांसफर किया गया था या किया जाएगा।
  • एक बयान कि कोई चुकौती (repayment) की उम्मीद नहीं है।
  • खरीदी जा रही संपत्ति का पता (यदि लागू हो)।
  • प्राप्तकर्ता और दाता दोनों के हस्ताक्षर।

ये सारी जानकारियां आपके उपहार पत्र में होनी चाहिए ताकि आपको उपहार का कानूनी स्वामित्व प्राप्त हो और आप इस उपहार का आर्थिक रूप से कहीं भी उपयोग कर सकें।

उपहार पत्रों के प्रकार (Types of Gift Letters)

उपहार की प्रकृति और वित्तीय लक्ष्य के आधार पर कई प्रकार के उपहार पत्र (Types of Gift Letters) होते हैं, जिनके बारे में आपको पता होना चाहिए।

  • संपत्ति योजना के लिए उपहार पत्र (Gift Letter for Estate Planning)
  • बंधक के लिए उपहार पत्र (Gift Letter for Mortgage)
  • इक्विटी लेटर का उपहार (Gift of Equity Letter)
  • माता-पिता से धन उपहार पत्र (Money Gift Letter from Parents)
  • सगे-संबंधियों से उपहार पत्र (Gift Letter from Relatives)
  • संघीय आवास प्रशासन उपहार पत्र (Federal Housing Administration (FHA) Gift Letter)

क्या गिफ्ट लेटर कानूनी रूप से बाध्यकारी होते है?

हां, उपहार पत्र कानूनी रूप से बाध्यकारी दस्तावेज होते है क्योंकि आपके ऋण के लिए कागजी कार्रवाई रिकॉर्ड में दर्ज की जाती है और लेने वाले और देने वाले दोनों के हस्ताक्षर और गवर्नमेंट अथॉरिटी की मुहर के कारण इसे कानूनी पत्र माना जाता है।

यह कानूनी रूप से मान्य होने के कारण, आप इसे बैंक में गिरवी रखने, लोन लेने, नगद में भुनाने और बेचने के लिए स्वतंत्र है और बिना किसी परेशानी के आप इसे एक-दूसरे के साथ आसानी से ट्रांसफर कर सकते हैं।

क्या उपहार पत्र परिवार के किसी सदस्य से जारी होना चाहिए?

नहीं, एक गिफ्ट लेटर को कोई भी जारी कर सकता है जैसे -आपके पैरेंट्स, दोस्त, संबंधी, पहचान वाले या घनिष्ठ संबंधी। हालांकि, उपहार पत्र जारी करते समय प्राप्तकर्ता या जारीकर्ता के बीच संबंध बताना अनिवार्य है।

उपहार पत्र लिखना मुश्किल नहीं है। यह आम तौर पर एक पृष्ठ का दस्तावेज़ होता है जो सादे अंग्रेजी या हिंदी में लिखा जाता है। एक उपहार जो आपको घर या अन्य संपत्ति खरीदने का अवसर प्रदान करता है, वह सबसे बड़ी चीजों में से एक हो सकता है जिसे आप प्राप्त कर सकते हैं।

भारत में गिफ्ट देने की प्रवृत्ति बहुत ज्यादा है इसीलिए आप गिफ्ट लेटर का प्रयोग करके आपके परिचितों को कोई भी गिफ्ट ऑफर कर सकते हैं और आपकी बैलेंस शीट में इसे दर्शा सकते हैं, यह आपको टैक्स बेनिफिट पर देता है।