फिक्स्ड डिपॉजिट डबल स्कीम से अपने पैसे को करें दोगुना

क्या आप अपने पैसे को डबल करना चाहते हैं और क्या आप पैसों को डबल करने की योजना के बारे में जानना चाहते हैं तो हम आपको बैंकों द्वारा जारी एक ऐसे ही योजना के बारे में बता रहे हैं जिसका नाम है फिक्स्ड डिपॉजिट डबल स्कीम (Fixed Deposit Double Scheme)।

Fixed Deposit Double Scheme क्या है?

बैंकों द्वारा शुरू की गई सावधि जमा दोहरी योजना (फिक्स्ड डिपॉजिट डबल स्कीम) एक ऐसी योजना है जिसमें निवेशक अपने पैसे को पूर्व निर्धारित अवधि में थोड़ा-थोड़ा करके निवेश करता है और एक निश्चित अवधि के बाद उसका पैसा बैंक द्वारा दोगुना करके लोटा दिया जाता है।

परिपक्वता अवधि पर अपने पैसे को दोगुना करने के इच्छुक निवेशकों के उद्देश्य को पूरा करने के लिए विभिन्न बैंकों द्वारा सावधि जमा डबल योजना (Fixed Deposit Double Scheme) जो विशेष सावधि जमा योजना (Special Fixed Deposit Scheme) के नाम से भी जानी जाती है को लॉन्च किया गया।

फिक्स्ड डिपॉजिट डबल स्कीम से अपने पैसे को दोगुना कैसे करें?

यह एक पुनर्निवेश योजना है जहां चक्रवृद्धि लाभ उत्पन्न करने के लिए अर्जित ब्याज को मूलधन में जोड़कर पुनर्निवेश किया जाता है। बैंक आमतौर पर सावधि जमा दोहरी योजना की पेशकश करते हैं। ये FD स्कीम हैं जिनमें निवेशकों को एक निश्चित अवधि के लिए एक निश्चित राशि जमा करनी होती है।

यह योजना किसी निवेशक के लिए पैसों को तब दोगुना करती है जब कोई निवेशक बैंक द्वारा तय पूर्व निर्धारित अवधि तक एक निश्चित अमाउंट प्रत्येक महीना या त्रैमासिक आधार पर जमा करता है। आप भारत की टॉप सरकारी व प्राइवेट बैंकों के माध्यम से इस स्कीम का लाभ उठा सकते है।

फिक्स्ड डिपॉज़िट डबल स्कीम एक FD स्कीम है जिसकी निश्चित अवधि बैंक द्वारा तय की जाती है। बैंक आमतौर पर इस प्रकार की जमा राशि के लिए न्यूनतम निवेश राशि तय करता है और ब्याज दर FD की अवधि पर निर्भर करती है।

फिक्स्ड डिपॉजिट डबल स्कीम योजना की समय अवधि (Tenure) यानी मेच्योरिटी पीरियड 6 महीने से 10 वर्ष तक होता है और ब्याज दर भी 3.5% से 10% के बीच होती है। यह ब्याज दर बैंक और अवधि के अनुसार अलग-अलग हो सकती है।

आपके द्वारा किए गए निवेश पर अर्जित ब्याज का पुनर्निवेश किया जाता है। मैच्योरिटी के दौरान, आपको ब्याज के साथ निवेश राशि डबल करके एकमुश्त मिलती है। इसके अलावा, म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश भी फायदे का सौदा माना जाता है।

ध्यान रहे कि अगर आप फिक्स्ड डिपॉजिट डबल स्कीम के तहत किसी बैंक में पैसा जमा करते हैं, तो आपके पास इन पैसों को समय से पहले निकालने का कोई विकल्प नहीं होता है। केवल, कुछ बैंक सावधि जमा दोहरी योजनाओं को समय से पहले तोड़ने या पैसे निकालने की अनुमति देते हैं।

इस धन दोहरीकरण योजना का सबसे बड़ा लाभ यह है कि आपको अपनी जमा राशि पर ऋण मिलता है, जो आपको वित्तीय सहायता की आवश्यकता होने पर ऋण के रूप में एक बड़ी सहायता प्रदान करता है।

आप अपनी बचत और निवेश क्षमता के अनुसार मासिक आधार पर कोई भी जमा राशि चुन सकते हैं। धीरे-धीरे निवेश करने की यह आदत बैंक द्वारा तय समय पूरा होने के बाद आपके पैसे को दोगुना करने में मदद करती है।

आप किसी भी बैंक में जाकर फिक्स्ड डिपाजिट डबल स्कीम का लाभ उठा सकते हैं। आप अपनी निवेश क्षमता के अनुसार धीरे-धीरे निवेश करके एक पर्टिकुलर समय के बाद एक साथ एक सिग्निफिकेंट अमाउंट प्राप्त करेंगे जो आपको अल्टीमेटली वित्तीय रूप से संबल करेगा।

सामान्य फिक्स्ड डिपॉजिट और फिक्स्ड डिपॉजिट डबल स्कीम में क्या अंतर है?

एक सामान्य फिक्स्ड डिपॉजिट में जमाकर्ता जमा की अवधि और निवेश राशि का चयन कर सकता है वही एक फिक्स्ड डिपॉजिट डबल स्कीम में निवेशक जमाकर्ता जमा की अवधि और निवेश की राशि का चयन नहीं कर सकता है क्योंकि यह बैंक द्वारा पूर्व निर्धारित होती है।

सामान्य सावधि जमा में, आप अपने निवेश पर अर्जित ब्याज को नियमित अंतराल पर निकाल सकते हैं या इसे पुनर्निवेश कर सकते हैं जबकि सावधि जमा डबल योजना में आप मेच्योरिटी पीरियड से पहले अर्जित ब्याज को बाहर नहीं निकाल सकते हैं यह केवल पुनर्निवेश ही होता है।

सामान्य फिक्स्ड डिपॉजिट में आपके द्वारा किए गए धन को दोगुना करने की कोई गारंटी नहीं मिलती है लेकिन फिक्स्ड डिपाजिट डबल स्कीम में आपके द्वारा निवेश किए गए धन को दोगुना करने की गारंटी मिलती है।

सामान्य FD स्कीम में आप अपना पैसा कभी भी बाहर निकाल सकते हैं लेकिन FD डबल प्लान में आप बैंक द्वारा तय की गई मैच्योरिटी अवधि के बाद ही अपना पैसा बाहर निकाल सकते हैं।

फिक्स्ड डिपॉजिट डबल स्कीम को कौन ऑफर करता है?

इस योजना को भारत के लगभग सभी बैंक ऑफर करते हैं इसीलिए आप किसी भी बैंक में जाकर बैंक अधिकारी से फिक्स डिपाजिट डबल स्कीम के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करके अपनी बचत को थोड़ा-थोड़ा जमा करना शुरू कर सकते हैं और एक विशेष समय के बाद आपका पैसा डबल हो जाएगा।

फिक्स्ड डिपॉजिट डबल स्कीम के तहत निवेश राशि और समय (Tenure) तय होता है। इस पर अर्जित ब्याज को योजना में पुनर्निवेशित किया जाता है और यहां ब्याज दर भी पूरी अवधि के दौरान स्थिर रहती है। इसलिए, परिपक्वता समय पर आपके द्वारा निवेश किये गये पैसे दोगुने हो जाता है।

आरबीआई द्वारा रजिस्टर्ड बैंकों के अलावा फिक्स्ड डिपॉजिट डबल स्कीम को कोई भी ऑफर नहीं करता है इसलिए कृपया किसी की बातों में नहीं आए और धोखा करने वाले लोगों से बचें। अपने पैसे को सुरक्षित रखने के लिए प्रतिष्ठित बैंकों के माध्यम से ही इस योजना का लाभ उठाएं।