बैंक की नौकरी कैसे मिलती है (सरकारी व प्राइवेट)

आज के इस लेख में हम जानेगें कि एक विद्यार्थी कैसे सरकारी व प्राइवेट बैंक में नौकरी प्राप्त कर सकता है। आज के समय में भारत में बैंको की संख्या बढ़ती जा रही है जिससे नौकरी के पद भी प्राप्त हो रहें हैं।

भारत का हर युवा बैंक में नौकरी करना चाहता है क्योंकि यह एक आरामदायक और अच्छी सैलरी प्रोवाइड कराने वाली जॉब है तो चलिए जानते हैं कि एक बैंक में कितने प्रकार की नौकरियां होती हैं और इन्हें प्राप्त करने के लिए क्या करना होगा?

सबसे पहले हम जानेगें बैंक के बारे में कि बैंक क्या है – बैंक एक वित्तीय संस्था है तथा बैंक की वित्तीय व्यवस्था भी बैंक के द्वारा ही की जाती है। इसके अतिरिक्त बैंक का देश की अर्थव्यवस्था में बड़ा योगदान होता है। बैंक कई प्रकार के होते हैं जैसे सरकारी/राष्ट्रीयकृत बैंक, प्राइवेट/निजी बैंक, वाणिजियक बैंक, लघु वित्त बैंक, सहकारी बैंक तथा पेमेंट बैंक/भुगतान बैंक।

भारत में राष्ट्रीयकृत बैंक (Nationalized Banks in India)

बैंक नाममुख्यालय
पंजाब नैशनलदिल्ली
इंडियन बैंकचेन्नई
भारतीय स्टेट बैंकमुंबई
केनरा बैंकबैंगलोर
यूनियन बैंक ऑफ़ इंडियामुंबई
इंडियन ओवरसीज बैंकचेन्नई
यूको बैंककोलकाता
बैंक ऑफ़ बड़ौदागुजरात
बैंक ऑफ़ इंडियामुंबई
सेंट्रल बैंक ऑफ़ इंडियामुंबई
पंजाब एंड सिंध बैंकनई दिल्ली

भारत में निजी बैंक (Private Banks in India)

बैंक नाममुख्यालय
एचडीएफसी बैंकमुंबई
आईसीआईसीआई बैंकगुजरात
आईडीबीआई बैंकमुंबई
नैनीताल बैंकनैनीताल
यस बैंकमुंबई
कोटक महिन्द्रा बैंकमुंबई
एक्सिस बैंकमुंबई
बंधक बैंककोलकाता
आरबीएल बैंकमुंबई
तामिलनाडु मर्चेंटाइल बैंकतमिलनाडु
साउथ इंडियन बैंककेरल
कर्नाटक बैंककर्नाटक

इन सभी बैंको की भारत के प्रत्येक राज्य के प्रत्येक जिलों में शाखाएं मौजूद होती हैं, प्रत्येक बैंक में दर्जनों एम्पलोई होते हैं जो यहां पर काम करते हैं। एक बैंक में कई प्रकार के पद होते हैं जैसे क्लर्क, मैनेजर, पीओ, सेकंड डिविजन क्लर्क, असिस्टेंट, कंप्यूटर प्रोग्राम ऑफिसर, स्पेशलिस्ट कैडर ऑफिसर, फॉरेक्स ऑफिसर, इंटीग्रेटेड ट्रेसरी ऑफिसर, चीफ इन्फॉर्मेशन ऑफिसर, आरटीआई कंसलटेंट, साइबर सुरक्षा ऑफिसर आदि।

इन पदों में से आप कोई सा भी पद प्राप्त कर सकते हैं बस आपको उसी पद की तैयारी करनी होगी और एक प्रवेश परीक्षा पास करके आप उस पद की नौकरी को प्राप्त कर सकते हैं।

बैंक की नौकरी कैसे मिलती है?

बैंक में नौकरी करने के लिए इतने सारे पोस्ट हैं, आप इनमें से किसी भी पोस्ट के लिए अप्लाई कर सकते हैं। हमारे देश में बहुत सारे सरकारी तथा प्राइवेट बैंक है जहां पर इन सारे पोस्ट पर नौकरी की वैकेंसी निकाली जाती है, इन सारे पोस्ट में नौकरी पाने के लिए आपको प्रवेश परीक्षा देनी होती है। जो विद्यार्थी इस प्रवेश परीक्षा को पास करते हैं और इसके बाद इंटरव्यू को भी पास कर लेते हैं, उन्हें इन पोस्ट पर बैंक में नौकरी मिलती है।

दोस्तों, किसी भी बैंक में सरकारी या प्राइवेट नौकरी पाना आसान नहीं है पर इतना मुश्किल भी नहीं है। हमारे जैसे ही विद्यार्थी बैंक में नौकरी करते हैं जब वह बैंक की परीक्षा को पास कर सकते हैं तो हम क्यों नहीं, बस हमें कठिन परिश्रम लगातार करना होता है जब तक नौकरी प्राप्त ना हो जाए।

सरकारी बैंक में नौकरी के लिए कितनी पढ़ाई की आवश्यकता होती है?

किसी भी सरकारी बैंक में नौकरी के लिए आपको बेसिक एजुकेशन अर्थात् ग्रेजुएशन उत्तीर्ण करनी होगी, ग्रेजुएशन में आपके कम से कम 50 प्रतिशत अंक होने चाहिए। ग्रेजुएशन आप किसी भी स्ट्रीम (विज्ञान/कॉमर्स/कला) से उत्तीर्ण कर सकते हैं।

जब आप की 12वी कक्षा की पढ़ाई पूरी हो जाती तो आप के पास सरकारी बैंक में नौकरी के केवल एक-दो अवसर ही होते हैं लेकिन ज्यादातर पोस्ट में ग्रेजुएशन की डिमांड होती है, इसलिए आपको ग्रेजुएशन जरुर करनी होगी। ग्रेजुएशन करने के पश्चात आप बैंक के किसी भी पोस्ट के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

सरकारी बैंक में नौकरी के लिए कौन सी प्रवेश परीक्षा होती है?

सरकारी बैंक में नौकरी के लिए सभी पोस्ट के लिए अलग अलग परीक्षाएं होती हैं जिन्हें आईबीपीएस (IBPS – Institute of Banking Personnel Selection) आयोजित कराता है। ज्यादतर बैंक में नौकरी के लिए आपको IBPS का ही एंट्रेंस एग्जाम देना होगा। कुछ बैंक ऐसे हैं जो खुद का अलग एंट्रेंस एग्जाम कराते हैं जैसे एसबीआई (SBI – State Bank of India) खुद की अलग प्रवेश परीक्षा कराता है जिसे छात्र पास करके सीधे एसबीआई में ही जॉब करते हैं।

आईबीपीएस द्वारा आयोजित प्रवेश परीक्षा में तीन चरण में एग्जाम होता हैः

  • पहला चरण प्री एग्जाम (Pre Exam) – इसमें इंग्लिश लैंग्वेज (English Language), न्यूमेरिकल एबिलिटी (Numerical Ability), रीजनिंग एबिलिटी (Reasoning Ability) विषय के प्रश्न होते हैं।
  • दूसरा चरण मैंस एग्जाम (Mains Exam) – इसमें रीजनिंग, कम्प्यूटर एप्टीट्यूड, इंग्लिश लैंग्वेज, डाटा एनालिसिस, इंटरप्रिटेशन तथा जनरल/बैंकिंग/इकोनॉमी अवेयरनेस विषय के प्रश्न होते हैं।
  • तीसरा चरण इन्टरव्यू – इसमें कैंडिडेट से बैंक तथा पास किये गए एग्जाम से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं।

प्राइवेट बैंक में नौकरी के लिए कौन सी प्रवेश परीक्षा होती है?

प्राइवेट बैंक में नौकरी के लिए आपको आईबीपीएस की ही प्रवेश परीक्षा देनी होगी क्योंकि आईबीपीएस द्वारा इन प्रवेश परीक्षाओं से कुछ सरकारी बैंक में नौकरी दी जाती हैं तो कुछ प्राइवेट बैंक में, इसलिए आपको यही परीक्षा देनी होगी।

दूसरा तरीका यह है कि आप किसी भी प्राइवेट बैंक में डायरेक्ट नौकरी के लिए जा सकते हैं। आप को अपने साथ अपना सीवी लेकर जाना होगा और वहां पर इन्टरव्यू देकर आप नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

इसके अलावा, कुछ प्राइवेट बैंक अपनी खुद की एग्जाम करवाते हैं जैसे आईसीआईसीआई बैंक अपना खुद का एग्जाम कराता है और बेस्ट टैलेंट को अपने लिए हायर करता है। आप संबंधित बैंक का एग्जाम देकर भी प्राइवेट बैंक में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

बैंक की परीक्षा के लिए तैयारी कैसे करें?

बैंक की परीक्षा की तैयारी करने के लिए निम्न बिंदुओं को फॉलो करके आप बैंक की परीक्षा को पास आउट कर सकते हैः

  • सबसे पहले यह डिसाइड करें कि आपको किस पोस्ट के लिए तैयारी करनी है।
  • इसके बाद आपको उस पोस्ट में जितनी एजुकेशन की डिमांड है उतनी पढ़ाई पूरी करें अर्थात् 12वी, ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन।
  • इसके बाद आप उस एंट्रेंस एग्जाम के सिलेबस की जानकारी प्राप्त करें।
  • सिलेबस के बारे में जानने के बाद आप किसी भी अपने आस-पास के कोचिंग सेंटर में जाकर तैयारी कर सकते हैं या आप ऑनलाइन कॉचिंग भी कर सकते हैं।
  • आज के समय में बहुत सारे ऐसे प्लेटफॉर्म हैं जिनसे आप किसी भी एंट्रेंस एग्जाम की कोचिंग ले सकतें हैं।

दोस्तों, इस प्रकार आप किसी भी सरकारी या प्राइवेट बैंक में नौकरी पा सकतें है। आशा करते हैं कि आपको इस पोस्ट से पर्याप्त जानकारी मिली होगी। यदि आपको यह पोस्ट पसंद आई है तो आप इसे सरकारी नौकरी की तैयारी करने वाले अपने दोस्तों को शेयर करें।