बैंक चेक कैसे भरे (Bank Cheque Kaise Bhare)

यहां, हम आपको भारत में चेक लिखने की प्रक्रिया के बारे में बताएंगे। यह चेक के प्रारूप और चेक पर विभिन्न क्षेत्रों को भरने के तरीके के बारे में विवरण प्रदान करेगा। इस लेख के समाप्त होने तक आपको इस बात की ठोस समझ हो जाएगी कि चेक कैसे भरना है।

क्या आप कभी चेक लिखते या जारी करते हैं? कुछ सुरक्षा उपाय हैं जिन्हें आपको किसी भी कारण से चेक लिखते समय हमेशा ध्यान में रखना चाहिए। वर्तमान तिथि, प्राप्तकर्ता का नाम, संख्यात्मक और वर्णानुक्रमिक राशि मान, और अन्य जानकारी को ठीक से जांचा और लिखा जाना चाहिए।

Table of Contents

चेक लेनदेन में पक्षकार कौन-कौन होते हैं?

चेक से जुड़े लेन-देन में तीन पक्षकार शामिल होते हैं:

  • ड्रॉअर (Drawer) वह व्यक्ति होता है जो चेक का मसौदा तैयार करता है या जारी करता है।
  • अदाकर्ता (Drawee) एक वित्तीय कंपनी, आहर्ता और आदाता के बीच मध्यस्थ के रूप में कार्य करती है।
  • प्राप्तकर्ता (Payee) चेक पर सूचीबद्ध धन प्राप्त करने के लिए नामित व्यक्ति या समूह।

चेक कितने प्रकार के होते हैं?

चेक कई प्रकार के होते हैं जिनमें से मुख्य रूप से चार प्रकार के चेक ज्यादातर यूज किए जाते हैं Bearer Cheque, Account Payee Cheque, Crossed Cheque, Order Cheque।

1. बियरर चेक (Bearer Cheque)

बियरर चेक का उपयोग सामान्य लेनदेन के लिए किया जाता है। इस चेक का भुगतान कैश काउंटर से भी किया जा सकता है।

2. अकाउंट पेई (Account Payee)

जब कोई व्यक्ति चेक के ऊपरी कोने में तिरछी रेखाओं के बीच में A/c Payee लिखता है, तो उसे Account Payee Cheque कहा जाता है। इससे किसी भी राशि का भुगतान करना काफी सुरक्षित माना जाता है।

3. क्रास्ड चेक (Crossed Cheque)

इस चेक के ऊपर दो समानांतर रेखाएँ खींची जाती हैं। इस चेक का उपयोग सामान्य लेनदेन के लिए नहीं किया जाता है। इस चेक का भुगतान एक खाते से दूसरे खाते में ही किया जा सकता है।

4. ऑर्डर चेक (Order Cheque)

इस चेक का भुगतान उपभोक्ता के हस्ताक्षर और आईडी नंबर से ही किया जा सकता है। जब कोई व्यक्ति किसी व्यक्ति विशेष को या उसके आदेश पर चेक देता है तो उसे ऑर्डर चेक जारी किया जाता है।

कौन-कौन से घटक एक चेक में शामिल होते हैं?

  • खाता संख्या: भुगतान करने के लिए खाता संख्या को चेक पर लिखा जाता है।
  • पाने वाले की जानकारी: सुनिश्चित करें कि आपने यहां पाने वाले का नाम सही लिखा है।
  • दिनांक बॉक्स: इस बॉक्स को दिन, माह और वर्ष के साथ पूरा भरें।
  • राशि बॉक्स: ड्रॉअर को शब्दों व अंकों में राशि लिखनी होती है।
  • हस्ताक्षर: ड्रॉअर को दिए गए स्थान में चेक पर सही हस्ताक्षर करने होते है।
  • चेक नंबर: प्रत्येक चेक में एक विशेष चेक नंबर और एक एमआईसीआर कोड (MICR Code) होता है।
  • IFSC Code: यह अक्षरों और संख्याओं के संयोजन से बना 11 अंकों का एक विशेष कोड होता है।

बैंक चेक कैसे भरे (Bank Cheque Kaise Bhare)

  • किसी भी बैंक की चेकबुक हो, उसे भरने का तरीका लगभग एक जैसा ही होता है।
  • सबसे ऊपर दिनांक विकल्प पर दिनांक दर्ज करें।
  • PAY ऑप्शन में उस व्यक्ति का नाम लिखें जिसे आप पेमेंट करना चाहते हैं।
  • रुपयों के विकल्प में स्थानांतरित की जाने वाली राशि दर्ज करें।
  • ट्रांसफर अमाउंट आपको शब्दों व अंको में लिखना है।
  • अंत में Signature या Authorized के ऊपर आपके हस्ताक्षर करने हैं।
  • ध्यान रखें यहाँ आपको वही हस्ताक्षर करने हैं जो आपके बैंक खाते में हैं।
  • ध्यान रखें जिस व्यक्ति का नाम आपने लिखा है बैंक में उसका नाम वैसा ही होना चाहिए।

बैंक चेक से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न (Bank Cheque FAQ)

चेक कब प्रभावी होता है?

भारत में, एक विशिष्ट क्रेडिट यूनियन खाते में जमा होने के बाद चेक को क्लियर होने में तीन कार्य दिवस लगते हैं। हालाँकि, कुछ परिस्थितियों में इस समय सीमा को बढ़ाया भी जा सकता है। जब तक चेक क्लियर नहीं हो जाता तब तक आप चेक राशि नहीं निकाल पाएंगे।

चेक के पीछे क्या लिखा जाता हैं?

भरे हुए चेक के पीछे आपके हस्ताक्षर के साथ आपके अकाउंट नंबर लिखे जाते हैं।

चेक की वैधता कितने दिन की होती है?

दिनांकित बैंक चेक केवल तीन महीने के लिए वैध होते हैं। इन्हें जारी होने की तारीख से तीन महीने के भीतर बैंक खाते में जमा करना होता है, ऐसा न करने पर इन्हें भुनाया नहीं जा सकता।

चेक द्वारा भुगतान कैसे होता है?

बैंक में चेक जमा करने के बाद, बैंक चेक जारी करने वाले बैंक से संपर्क करेगा और खाते की पूरी जानकारी की जांच करेगा। यदि उस खाते में जारी चेक की राशि उपलब्ध है तो इसे चेक प्राप्तकर्ता के खाते में स्थानांतरित कर दिया जाएगा।

चेक का क्या लाभ है?

चेक जारी करने से आपके पास भुगतान की सुरक्षा होती है क्योंकि पूरा विवरण बैंक के पास होता है और आपके साथ भुगतान से संबंधित किसी भी प्रकार की धोखाधड़ी की कोई संभावना नहीं होती है। यदि आप एक चेक जारी करते हैं, तो आप आयकर या अन्य करों का भुगतान करते समय भी जारी किए गए चेक को भुगतान लेनदेन साक्ष्य के रूप में प्रस्तुत कर सकते हैं।

बैंक कब चेक की रकम चुकाने से इनकार कर सकता है?

यदि चेक में भरी हुई डिटेल गलत है, चेक प्राप्तकर्ता का नाम अकाउंट से मेल नहीं खाता है, चेक में बहुत काट-छांट है, चेक बुरी तरह से कटा हुआ है, चेक में गलत खाता संख्या लिखी हुई है, चेक में दिनांक नहीं लिखी हुई है, चेक जारी करने वाला चेक को कैंसिल कर देता है, तब बैंक चेक की राशि देने से इनकार कर सकता है।

चेक के पीछे signature क्यों करते है?

बैंक खाते में मौजूद हस्ताक्षर को मैच करने के लिए बैंक चेक के पीछे सिग्नेचर करने को कहता है ताकि बैंक इन हस्ताक्षर को बैंक खाते से मैच करके पूर्ण सिक्यॉरली पैसों का ट्रांजैक्शन कर सके।

चेक बुक में कितने नंबर होते हैं?

चेक के नीचे दिए गए 23 अंकों के नंबर बेहद खास होते हैं। इसमें हर 6 अंकों का कोई न कोई मतलब होता है। पहले 6 अंक चेक नंबर कहलाते हैं, अगले 9 अंक MICR कोड होते हैं, अगले 6 अंक बैंक खाता संख्या होते हैं, और अंतिम 2 अंक ट्रांजैक्शन आईडी होते हैं।

क्या आप 6 महीने के बाद चेक कैश कर सकते हैं?

अगर चेक पर जारी करने की तारीख नहीं लिखी है तो आप इसे कभी भी जारी कर सकते हैं लेकिन अगर आप चेक पर तारीख लिखते हैं और यह 3 महीने से अधिक है तो बैंक चेक को अस्वीकार कर सकता है।

चेक नंबर कैसे लिखें?

चेक के नीचे दिए गए 23 अंकों के नंबर बेहद खास होते हैं। पहले 6 अंक चेक नंबर कहलाते हैं, अगले 9 अंक MICR कोड होते हैं, अगले 6 अंक बैंक अकाउंट नंबर होते हैं और अंतिम 2 अंक ट्रांजैक्शन आईडी होते हैं। इन 23 में से पहले के 6 डिजिट नंबर आपके चेक नंबर होते है, इन्हें आप रिकॉर्ड के तौर पर लिख सकते हैं।

चेक कौन जारी करता है?

चेक लेनदेन में तीन पक्षकार शामिल होते हैं। भुगतानकर्ता (drawer) वह व्यक्ति या संस्था है जो चेक जारी करता है, अदाकर्ता (drawee) वित्तीय संस्थान है, और प्राप्तकर्ता (payee) वह व्यक्ति या संगठन है जो चेक प्राप्त करता है।

बैंक चेक बनवाने में कितना खर्चा आता है?

बैंक की चेक बुक बनाने में ₹50 से लेकर ₹1000 तक का खर्च आता है।

क्या मैं किसी भी शाखा में चेक जमा कर सकता हूं?

जारीकर्ता और प्राप्तकर्ता के एक ही बैक में अकाउंट होने पर भारत के किसी भी क्षेत्र में स्थित बैंक ब्रांच में चेक जमा कराया जा सकता हे और पैसे प्राप्त किए जा सकते हैं।

अधिकतम कितनी राशि का चेक होता है?

चेक जारी करने की अधिकतम कोई लिमिट नहीं होती है। आप अपनी सुविधा के अनुसार किसी भी अमाउंट का चेक जारी कर सकते हैं।