विश्व के 1% धनी व्यक्तियों की एवरेज नेट वर्थ

पृथ्वी पर लगभग 7.5 अरब लोग रहते हैं, जिनमें से केवल 1% लोगों के पास लगभग 80 से 90% संपत्ति है। आपके मन में यह सवाल जरूर आता होगा कि इन लोगों के पास ऐसा क्या है जो पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था को चलाने में अहम भूमिका निभाते हैं।

विश्व के 1% धनी व्यक्तियों की एवरेज नेट वर्थ

बहुत से लोग अमीर होने की परिभाषा को एक बड़ा घर-बंगला, महंगी कार और लग्जरी लाइफ मानते हैं, लेकिन अगर हम दुनिया की 1% पैसे वाली आबादी को देखें, तो ऐसा बिल्कुल नहीं लगता। आप दुनिया की 10 सबसे धनी महिलाओं के बारे में भी जान सकते है।

वे लोग विलासितापूर्ण जीवन जीने पर ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं और अपने सर्वोत्तम प्रयासों से लोगों की समस्याओं को हल करने का प्रयास करते हैं और नई तकनीक के माध्यम से इस दुनिया को ओर अधिक सुंदर बनाने का प्रयास करते हैं।

फोर्ब्स ने 2022 की विश्व के अरबपतियों की लिस्ट में दुनिया के 2,668 अरबपतियों को शामिल किया है, जो पिछले साल के रिकॉर्ड 2,755 से 87 कम है। सामूहिक रूप से, उनकी कीमत $12.7 ट्रिलियन है, जो 2021 की सूची में $13.1 ट्रिलियन के रिकॉर्ड से नीचे है।

दिसंबर 2022 तक, दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों कि लिस्ट में एलोन मस्क शामिल हैं, जिनकी कुल संपत्ति 268 बिलियन डॉलर है। उनके बाद जेफ बेजोस दुसरे स्थान पर काबिज है जिनकी कुल संपति 175 बिलियन डॉलर है। 

आज इस एक प्रतिशत आबादी ने प्रमुख कॉरपोरेट्स, बड़े-बड़े बिजनेस ब्रांड्स, स्टॉक मार्केट में अरबों रुपए का निवेश और अंतरिक्ष में रॉकेट को लॉन्च करने के साथ रोबोटिक तकनीक के माध्यम से लोगों के जीवन को बहुत आसान बना दिया है और करोड़ों लोगों को रोजगार प्रदान कर रहे हैं।

पिछले इस डिजिटल एक दशक में 1% आबादी की औसत नेटवर्थ तेजी से बढ़ी है और अब यह गैप बहुत ज्यादा हो गया है जिसे फुलफिल करना बहुत डिफिकल्ट कार्य है। यहां दुनिया की 1% पैसे वाली आबादी के बारे में कुछ बुनियादी तथ्य दिए गए हैः

  • शीर्ष 1% की न्यूनतम कुल संपत्ति लगभग 11.5 मिलियन डॉलर है।
  • शीर्ष 1% में शामिल होने के लिए एक व्यक्ति को प्रति वर्ष औसतन $823,763, कमाने की आवश्यकता होगी।
  • धन के इस गैप में कहीं ना कहीं उन 1% लोगों की बिजनेस स्किल और लीडरशिप भी एक महत्वपूर्ण कारक है।
  • यह अंतर विभिन्न कारकों से उपजा है, जिसमें सबसे धनी लोगों का सार्वजनिक और निजी इक्विटी का बढ़ता प्रभुत्व और टैक्स प्लानिंग शामिल हैं।

शीर्ष 1% की आबादी के बारे में यह समझना महत्वपूर्ण है कि कुल जनसंख्या का यह हिस्सा कितना कमाता है। आर्थिक नीति संस्थान (Economic Policy Institute) के अनुसार, शीर्ष 1% क्लब में प्रवेश पाने के लिए एक व्यक्ति को $823,763 की औसत वार्षिक आय की आवश्यकता होती है।

एक रिपोर्ट के अनुसार, टॉप 1% ने विश्व की टोटल ग्रॉस इनकम में से 20% आय जनरेट की है जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है। जहां लोग अपना दैनिक जीवन जीने के लिए संघर्ष करते हैं, वहीं ये लोग प्रति सेकंड अरबों रुपये कमाते हैं।

एक रिपोर्ट के अनुसार, शीर्ष 1% कॉर्पोरेट घरानों की न्यूनतम निवल संपत्ति (minimum net worth) लगभग 11.1 मिलियन डॉलर है। दूसरी ओर, शीर्ष 10% की कुल संपत्ति लगभग 1.2 मिलियन डॉलर है।

मध्यम वर्ग की संपत्ति भी बढ़ रही है, लेकिन यह मुख्य रूप से 1970 और 2000 के बीच बढ़ी। इस दौरान, औसत आय में 1.2% की वार्षिक औसत दर से 41% की वृद्धि हुई। 2000 से 2018 तक, यह दर 0.3% थी।

इस असमानता के कई कारण हैं, लेकिन मुख्य कारकों में से एक यह है कि निजी और सार्वजनिक दोनों कंपनियों में उनके पास 50% से अधिक इक्विटी है और शेयर बाजार में आई तेजी से उन्हें फायदा भी हुआ है।

विश्व के 1% धनी व्यक्तियों की आलोचना

दुनिया में सबसे अमीर होने के नाते, इस वर्ग को बहुत आलोचना का सामना करना पड़ता है और इस वर्ग को सबसे पहले किसी भी मौद्रिक गलती के लिए जिम्मेदार ठहराया जाता है।

इस एक प्रतिशत वर्ग को बहुत कुछ कहा जाता है कि आप ही हैं जो लोगों को लूटते हैं, जनता पर अत्याचार करते हैं, महंगाई बढ़ाते हैं और कई तरह की आलोचनाओं का सामना करना पड़ता है।

लेकिन, अगर यह 1% वर्ग नहीं होता तो आज हमें ऐसी आधुनिक तकनीक की सुविधा नहीं मिलती और हमारा जीवन इतना आसान नहीं बनता।

विभिन्न देशों की सरकारों ने भी इस धनी वर्ग पर कर में उल्लेखनीय वृद्धि का प्रस्ताव दिया है और कई देशों ने 30 से 40% कॉर्पोरेट कर लगाया है।

इसके बावजूद, अपनी संपूर्ण कर योजना (tax planning) और बिजनेस मॉडल के साथ यह खंड लगातार आगे बढ़ रहा है और ग्रोथ हासिल कर रहा है जो एक अकल्पनीय उपलब्धि है।

दुनिया के 1% सबसे अमीर लोगों की सूची में शामिल होने के टिप्स

  • विकास और टेक्नोलॉजी पर ध्यान दें।
  • लॉन्ग टर्म सोचें और प्लानिंग करें।
  • हमेशा आत्मविश्वासी व मोटिवेट रहें।
  • एक हैकर की तरह तुरंत निर्णय लें।
  • सीखना कभी भी बंद ना करें।
  • एक सिद्ध प्रबंधन शैली का पालन करें।
  • प्रतियोगिता (Competition) से आगे रहें।
  • कंज्यूमर टेक पर फोकस करें।
  • असफलता से सीखें और दोबारा गलती न करें।
  • खर्च लक्ष्य के अनुरूप होना चाहिए।
  • दूसरों को प्रभावित करने के लिए पैसे बर्बाद न करें।
  • बहुत सारी तरलता और सरलता रखें।
  • हर कीमत पर शुल्क से बचें।
  • सही सेवानिवृत्ति बचत खाता चुनें।
  • साल भर की कर योजना (Tax Planning) बनाना।
  • धर्मार्थ कारणों के लिए दान करें।
  • सलाहकारों को नियुक्त करना महत्वपूर्ण है।
  • समय का सदुपयोग करें, दुरुपयोग नहीं।
  • अपना डेली रूटीन बनाएं और इसे लिखें।
  • लागत से अधिक मूल्य को समझें।
  • कम खाएं और हेल्दी व फिट रहें।
  • अधिग्रहण (Acquisitions) के साथ आक्रामक रहें।
  • अन्य लोगों के पैसों का उपयोग करना सीखें।
  • बचत की रणनीति बनाएं और इंप्लीमेंट करें।
  • अपनी सोच बदलें और हमेशा पॉजिटिव रहें।
  • अपने आप में निवेश करें और अपने दिमाग का विकास करें।
  • क्रेडिट कार्ड से भुगतान न करें व उधार लेने से बचें।
  • अपने जुनून और पैशन को फॉलो करें, किसी के कहने में ना आएं।
  • हमेशा सीखते रहे और लोगों को बेस्ट वैल्यू देने की कोशिश करें।
  • बिजनेस मॉडल बनाएं और ग्राहकों का ध्यान रखें।

इन सभी बातों का ध्यान रखकर और इनका पालन करके आप भी इस लिस्ट में शामिल हो सकते हैं और विश्व की अर्थव्यवस्था में बहुत बड़ा योगदान दे सकते हैं। बस, आपको उचित प्लानिंग के साथ सही शुरुआत करने की आवश्यकता है और हमेशा आगे बढ़ते हुए सीखते रहना है, आपकी ग्रोथ आने वाले सालों में ऑटोमेटिक होगी।