आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिजनेस का विस्तार कैसे करें?

आर्टिफिशियल ज्वैलरी की मांग लगातार बढ़ने के कारण भारत के बाजारों में आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिजनेस करने वाले लोगों की संख्या लगातार बढ़ रही है। यह बिजनेस अच्छे प्रॉफिट मार्जिन के साथ हमेशा डिमांड में रहने वाला कम कीमत में किया जाने वाला बिजनेस है।

आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिजनेस का विस्तार कैसे करें?

अगर आपने अपना फैशन या आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिजनेस शुरू कर लिया है और इसके विस्तार के बारे में सोच रहे हैं (how to expand artificial jewelry business) तो हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से कुछ लाभदायक टिप्स बता रहे हैं जो आपके आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिजनेस का विस्तार करने में सहायक हो सकते हैं।

आप अपना आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिजनेस या स्टोर शुरू करके अच्छे पैसे कमा सकते हैं। आइए, जानते हैं आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिजनेस का विस्तार कैसे करें एवं आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिजनेस को कैसे बढ़ाएं?

आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिजनेस शुरू करना

आपने आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिजनेस शुरू कर लिया है और आपकी कमाई भी अच्छी होने लग गई है। अब आप चाहते हैं कि आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिजनेस को कैसे आगे बढ़ाएं और विस्तार करें तो सबसे पहले आप अपने वार्षिक टर्नओवर को देखें और उसकी एक प्रॉपर तरीके से बैलेंस शीट बनाएं।

अपने आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिजनेस के जीएसटी नंबर प्राप्त करें

अगर आपका फैशन ज्वैलरी बिजनेस का वार्षिक टर्नओवर ₹ 20,00,000 या उससे ज्यादा है तो आप जीएसटी के लिए अप्लाई कर सकते हैं। इसके लिए आपको जीएसटी पोर्टल पर जाकर या किसी सीए फर्म से कांटेक्ट कर जीएसटी नंबर प्राप्त कर सकते है।

यह नंबर आपको एक कानूनी पहचान प्रदान करते हैं। जीएसटी नंबर आप पहले भी ले सकते हैं और वार्षिक टर्नओवर 20 लाख से ज्यादा होने पर भी ले सकते हैं।

अपने फैशन ज्वैलरी बिजनेस को कंपनी में बदले

अपने आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिज़नेस को ग्रो करने के लिए आपको इसे प्राइवेट कंपनी का रूप देना होगा। प्राइवेट कंपनी रजिस्ट्रेशन के लिए सीए से कांटेक्ट कर सकते हैं जो बहुत ही कम फीस चार्ज और समय में कम्पनी  रजिस्ट्रेशन प्रोसेस पूरी करके रजिस्ट्रेशन करवा सकता है।

आपके आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिजनेस के विस्तार के लिए एक लीगल आईडेंटिटी होना बहुत आवश्यक है और यह लीगल आईडेंटिटी आपके बिजनेस को प्राइवेट कंपनी के रूप में मिलेगी इसीलिए इसका रजिस्ट्रेशन बिजनेस ग्रोथ के लिए बहुत ही आवश्यक है।

अब आपने जीएसटी नंबर भी ले लिए और कंपनी के रूप में इसे रजिस्टर भी करवा लिया। अब, आपके पास फैशन ज्वैलरी बिजनेस को ऑफलाइन और ऑनलाइन बढ़ाने के दो विकल्प हैं। दोनों में क्षमता है लेकिन ऑनलाइन ट्रेंडी ज्वैलरी व्यवसाय में सबसे अधिक संभावनाएं हैं फिर भी हम नीचे दोनों विकल्पों के बारे में बात करेंगे।

ऑफलाइन आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिजनेस कैसे बढ़ाएं?

मान लीजिए, आपने अपनी वर्तमान फैशन ज्वैलरी की दुकान से अच्छी कमाई शुरू कर दी है और आप इस व्यवसाय का विस्तार करना चाहते हैं, तो आप अपने बजट के अनुसार अपने नजदीकी क्षेत्र में एक या एक से अधिक दुकानें खोल सकते हैं।

धीरे-धीरे, जब आप इन दुकानों से कमाई करना शुरू करते हैं, तो अपने व्यवसाय को एक निजी कंपनी के रूप में पंजीकृत करें और अपने निकटतम बड़े शहर में विभिन्न शाखाएँ खोलें या फ्रेंचाइजी ऑफर करें या आप अपने स्वयं के कर्मचारियों को अपनी विभिन्न दुकानों या शाखाओं में नियुक्त कर सकते है।

ऑफलाइन ज्वैलरी बिजनेस को बढ़ाना थोड़ा मुश्किल है और इसमें काफी निवेश की भी जरूरत होती है इसलिए आपके पास एक से ज्यादा स्टोर खोलने के लिए कम से कम ₹ 10 से 12 लाख होने चाहिए। आप भारत के टॉप 10 आर्टिफिशियल ज्वैलरी ब्रांड से प्रोडक्ट्स खरीद कर अपने बिजनेस का विस्तार कर सकते हैं।

सुनिश्चित करें, आपके पास इतना पैसा है, उसके बाद ही इस व्यवसाय के विस्तार के बारे में सोचें। अगर आप बिना प्लानिंग और जल्दबाजी में इस बिजनेस को शुरू करते हैं तो आपको बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है।

इसलिए कृपया धैर्य रखें और अनुभव प्राप्त करते रहें, जब आपको पूरा भरोसा हो तभी अपने फैशनेबल ज्वैलरी व्यवसाय को ऑफलाइन विस्तार करने के बारे में सोचें।

ऑनलाइन आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिजनेस कैसे बढ़ाएं?

अपने फैशनेबल या कृत्रिम आभूषण व्यवसाय को ऑनलाइन बढ़ाना ऑफ़लाइन की तुलना में आसान है और इसमें लागत कम आती है और आउटपुट भी बहुत अधिक होता है।

ऑनलाइन विस्तार करने के लिए, आप अपने उत्पादों को Amazon, Flipkart और अन्य ऑनलाइन ई-कॉमर्स वेबसाइटों पर पंजीकृत कर बेच सकते हैं। इसमें आपको किसी तरह की अलग से जगह लेने की जरूरत नहीं है।

आप कहीं भी हों, ऑर्डर आने पर आप खुद पैक कर सकते हैं या इन ई-कॉमर्स साइटों की मदद ले सकते हैं और ग्राहकों को अपने उत्पादों की आपूर्ति कर सकते हैं।

आप अपनी खुद की ई-कॉमर्स वेबसाइट बनाकर भी ज्वैलरी प्रोडक्ट बेच सकते हैं या आप अलग-अलग सोशल मीडिया पर अपना अकाउंट बनाकर अपने आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिजनेस का विस्तार कर सकते हैं।

आप इनके बारे में भी जान सकते है

बेस्ट सोने और हीरे के ज्‍वैलरी ब्रांड

फ्रेंचाइज बिजनेस मॉडल क्या होता है?

भारत में 5 सबसे बड़ी थोक कपड़ा बाजार

आप अपनी खुद की ई-कॉमर्स वेबसाइट बना कर अलग-अलग सोशल मीडिया पर अकाउंट बना सकते हैं और गूगल, फेसबुक, इंस्टाग्राम पर मार्केटिंग शुरू कर सकते हैं। यह नकली फैशन ज्वैलरी बिजनेस को बढ़ाने का सबसे अच्छा तरीका है जो बहुत कम मार्केटिंग लागत के साथ अच्छा रिजट देता है।