वित्तीय स्वतंत्रता प्राप्त करने की 10 आदतें

फाइनेंशियल फ्रीडम यानी कि वित्तीय स्वतंत्रता हम सभी के लिए आज के इस महंगाई के दौर में एक कॉमन प्रश्न बन गया है। इन 10 आदतों से आप आर्थिक आजादी (Financial Freedom in Hindi) की राह पर चल सकते हैं और आप अपना भावी जीवन बेहतर तरीके से बिता सकते हैं।

वित्तीय स्वतंत्रता प्राप्त करने की 10 आदतें

वित्तीय स्वतंत्रता आपके और हम सभी के लिए अपनी वांछित जीवन शैली जीने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है लेकिन दुर्भाग्य से 80% लोग कई प्रयासों के बावजूद भी वित्तीय स्वतंत्रता प्राप्त नहीं कर पा रहे हैं, ऐसा क्यों?

इसका सरल शब्दों में सीधा सा उत्तर है हम सभी को सही समय पर सही नॉलेज व जानकारी नहीं मिल पाती है और कहीं न कहीं हमारा एजुकेशन सिस्टम भी इसमें एक महत्वपूर्ण रोल अदा करता है।

क्या आप फाइनेंशियल फ्रीडम यानी वित्तीय स्वतंत्रता प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको फाइनेंशियल नॉलेज प्राप्त करनी होगी और नीचे बताई गई बेस्ट 10 वित्तीय स्वतंत्रता प्राप्त करने की आदतें अपनानी होगी।

अपने स्वास्थ्य का हमेशा ख्याल रखें

आज आप जीवन के किसी भी स्टेज पर हो आपको अपने स्वास्थ्य का हमेशा ख्याल रखना होगा। Financial Freedom प्राप्त करने और इसका आनंद लेने के लिए आपका हमेशा हेल्दी रहना बहुत जरूरी है। अगर आप बीमार होंगे तो आर्थिक फ्रीडम का होना भी आपके लिए कोई मायने नहीं रखेगा।

हमेशा स्वस्थ बने रहने के लिए आपको अपनी फिटनेस पर ध्यान देना होगा और योग, एक्सरसाइज, वॉकिंग, हेल्दी फूड आदि के माध्यम से अपनी शारीरिक और मानसिक ताकत को पैसा कमाने के लिए बढ़ाना होगा।

अपनी नॉलेज फाउंडेशन को मजबूत करें

किसी भी व्यक्ति के लिए आर्थिक स्वतंत्रता प्राप्त करने का पहला कदम है अपने ज्ञान को बढ़ाना और अपने ज्ञान से अपनी नींव को मजबूत करना। इसके लिए आपको ज्यादा पढ़ाई करने की जरूरत नहीं है। आप जिस भी हालत में हों, आप फाइनेंस मैनेजमेंट, बिजनेस, इन्वेस्टमेंट, मोटिवेशनल बुक्स पढ़ना शुरू कर दें।

किसी भी फील्ड का नॉलेज प्राप्त करना पैसे कमाने की पहली सीढ़ी माना जाता है। अगर आप किसी विशेष फील्ड में एक्सपर्ट है और उसका पूरा नॉलेज रखते हैं तो आपको आर्थिक फ्रीडम प्राप्त करने से कोई नहीं रोक सकता। हां, इसके लिए आपको थोड़ा टाइम लग सकता है लेकिन लॉन्ग टर्म में आप हमेशा विनर बने रहेंगे।

अपना लॉन्ग टर्म लक्ष्य निर्धारित करें

अपना नॉलेज बढ़ाने के साथ अपने जीवन का लक्ष्य तय करें और उस लक्ष्य के अनुसार धीरे-धीरे आगे बढ़ते रहे क्योंकि जब तक आपका लॉन्ग टर्म लक्ष्य तय नहीं होगा आप आगे नहीं बढ़ पाएंगे और हमेशा मोटिवेशन व आत्मविश्वास की कमी महसूस करेंगे।

हर किसी की सामान्य इच्छा होती है वित्तीय स्वतंत्रता, लेकिन यह लक्ष्य बहुत अस्पष्ट होता है। आपके लक्ष्य जितने विशिष्ट होंगे, उन्हें प्राप्त करने की संभावना उतनी ही अधिक होगी। बेशक, आप ऐसा कर सकते हैं लेकिन इसके लिए आपको हमेशा तत्पर रहना होगा और आगे आकर शुरुआत करनी पड़ेगी।

दैनिक और मासिक बजट बनाएं

आज यानी वर्तमान में आपकी जो भी कमाई और खर्चें हैं, उसका हमेशा और मासिक आधार पर बजट बनाएं ताकि आपको पता रहे कि कौनसे खर्चें ज्यादा हो रहे हैं और कहां से हमें बचत करनी चाहिएं।

लगभग 60% लोगों की आर्थिक स्वतंत्रता न प्राप्त करने का मुख्य कारण यह है कि दैनिक और मासिक बजट उचित तरीके से निर्धारित नहीं होता है। अगर आप ऐसा कर पाते हैं तो आपकी कमाई का 10 से 20 फीसदी जरूर बच जाएगा और यह बचत आने वाले भविष्य में आपके काम आएगी।

पैसिव इनकम को जनरेट करें

पैसिव इनकम जनरेट करने के आज बहुत सारे माध्यम आ गए हैं और लोग ऑनलाइन तरीके से बहुत अच्छी पैसिव इनकम घर बैठे कर रहे हैं। आपको भी टेक्नोलॉजी की सहायता से पैसिव आय उत्पन्न करने की कोशिश करनी चाहिए।

पैसिव इनकम का मतलब है कि एक बार आपने काम कर लिया और उस काम के बदले में आपको बार-बार इनकम मिल रही है। ऐसा करना आज के आधुनिक युग में एक आम बात हो गई है। इसके लिए आप ऑनलाइन कोर्स कर सकते हैं या फिर इंटरनेट से फ्री में सीख सकते हैं।

अपनी आय का 10% निवेश करें

आपकी कमाई कितनी भी है आज से ही अपनी कुल आय का 10% बचत करके किसी अच्छे प्लेटफार्म पर निवेश करना शुरू करें। यह निवेश आने वाले 20 सालों में आपको पूर्ण रूप से फाइनेंशियल फ्रीडम प्राप्त करने में मदद करेगा।

आप अपनी बचत और बजट के अनुसार गोल्ड, म्यूचुअल फंड, इक्विटी स्टॉक, रियल एस्टेट, कमोडिटी, स्टार्टअप, टेक्नोलॉजी आदि में निवेश कर सकते हैं और आने वाले कुछ वर्षों में मल्टीप्लाई रिजल्ट प्राप्त कर सकते हैं।

अपने क्रेडिट स्कोर व व्यवहार को अच्छा रखें

बैंक या अन्य फाइनेंस इंस्टीट्यूट के साथ अपने क्रेडिट स्कोर को हमेशा अच्छा बनाए रखने की कोशिश करें और जो भी क्रेडिट आपने ले रखी है उसका टाइम पर पेमेंट करें। अपने क्रेडिट स्कोर को हमेशा मेंटेन रखना Financial Freedom प्राप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

क्रेडिट स्कोर के साथ बाजार और अपने सगे संबंधियों के साथ सभी वित्तीय लेनदेन का व्यवहार अच्छा बनाए रखें। उनके साथ किसी भी प्रकार की घपलेबाजी ना करें और कभी भी किसी भी व्यक्ति के पैसे अनावश्यक रूप से अपने पास रखने की कोशिश ना करें।

वित्तीय मुद्दों पर हमेशा शिक्षित रहें

प्रत्येक व्यक्ति को आर्थिक स्वतंत्रता प्राप्त करने के लिए वित्तीय या फाइनेंशियल मुद्दों पर शिक्षित होना बहुत आवश्यक है। बिना इसके आप लॉन्ग टर्म में अपने वित्तीय लक्ष्य प्राप्त नहीं कर सकते। आज आर्थिक शिक्षा हर किसी की आवश्यकता बन गई है।

फाइनेंशियल एजुकेशन हम सभी के लिए बहुत आवश्यक है लेकिन भारतीय एजुकेशन सिस्टम यह शिक्षा उपलब्ध नहीं करवा रहा है। इसके लिए आपको अलग से फाइनेंस, इन्वेस्टमेंट, बिजनेस, स्टार्टअप व टेक्नोलॉजी से संबंधित बेस्ट किताबे पढ़ने की आवश्यकता है।

अपनी संपत्ति को मल्टीप्लाई करें

एक रिपोर्ट के मुताबिक लगभग 25% भारतीय अपनी वर्तमान संपत्ति को बेच देते हैं, वे उसे अपने भविष्य के लिए मेंटेन नहीं कर पाते हैं। यह वित्तीय रूप से सक्षम बनने में सबसे बड़ी बाधा है जिसे किसी भी तरफ से आपको नेगलेक्ट (नकारना) करना है।

आप अपनी वर्तमान संपत्ति को जैसे रियल एस्टेट, गोल्ड, इक्विटी स्टॉक आदि को लॉन्ग टर्म के लिए होल्ड कर सकते हैं और इसके साथ ही अपनी बजट क्षमता के अनुसार अन्य संपत्ति को खरीद कर अपनी वर्तमान संपत्ति को बढ़ा सकते हैं।

अपनी आय के अनुसार हमेशा आवश्यक खर्चे ही करें

आपको हमेशा अनावश्यक खर्चों से बचना चाहिए और अपनी इनकम के आधार पर अपने रहन-सहन और खर्चे निर्धारित करने चाहिए ताकि आपको कभी भी किसी भी प्रकार की इमरजेंसी आर्थिक परेशानी का सामना ना करना पड़े।

आज का भारतीय यूथ वेस्टर्न कल्चर की ओर आकर्षित हो रहा हैं और लोन लेकर अपने शौक पूरे करने की कोशिश कर रहा है। उन्हें शुरुआत के एक-दो साल तक अच्छा फील होता है लेकिन लॉन्ग टर्म में उन्हें अनावश्यक वित्तीय परेशानियों का सामना करना पड़ता है और वे डिप्रेशन में चले जाते हैं जो बिल्कुल गलत है।